अशोकनगर| राजगढ़ की कलेक्टर निधि निवेदिता एवं डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा के खिलाफ भाजपा के लोगों द्वारा की गई बयानबाजी के बाद प्रदेश भर के आईएसएस अधिकारी सामने आ कर प्रतिक्रिया दे रहे है। 5 माह पहले भाजपा नेताओं द्वारा असभ्य भाषा का दंश झेल चुकी अशोकनगर कलेक्टर डॉ मंजू शर्मा ने राजगढ़ कलेक्टर के खिलाफ हुई अमर्यादित टिपण्णी की निंदा की है। उन्होंने इसे महिलाओ के सम्मान एवं उनकी अस्मिता पर प्रहार माना है। उल्लेखनीय है कि बीते साल 26 अगस्त को अशोकनगर की महिला कलेक्टर के खिलाफ भी भाजपा के सांसद डॉ केपी यादव एवं दूसरे नेताओं ने अमर्यादित भाषा का प्रयोग किया था । जिस पर बड़ा बबाल मचा था।

बीते 3 दिन से राजगढ़ में महिला कलेक्टर एवं डिप्टी कलेक्टर को लेकर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं द्वारा जिस तरह की बयानबाजी की जा रही है। उसका अशोकनगर की महिला कलेक्टर डॉ मंजू शर्मा ने विरोध किया है। उनका कहना है कि एक तरफ तो समाज में महिलाओं को पूजनीय बताया जाता है, वहीं दूसरी तरफ उनके खिलाफ अभद्र एवं असहनीय भाषा का उपयोग किया जाता है। इससे सभी महिला अधिकारियों को तकलीफ होती है। उनका कहना है कि ऐसा माहौल काम करने में आगे दिक्कत करेगा। उन्होंने राजगढ़ कलेक्टर निधि निवेदिता एवं डिप्टी कलेक्टर पूजा वर्मा का समर्थन करते हुए उनके खिलाफ नेताओ द्वारा की गई टिप्पणियों एवं व्यवहार की निंदा की है।

महिला कलेक्टर के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के द्वारा की जा रही अमर्यादित भाषा कोई पहला प्रकरण नहीं है । इससे पहले 26 अगस्त को पंचायतों के परिसीमन के मामले में विरोध प्रदर्शन करते समय अशोकनगर में भाजपा सांसद डॉक्टर के पी यादव महिला कलेक्टर के खिलाफ जो भाषा बोले थे उस पर बड़ा बवाल मचा था।तब कलेक्टर को ज्ञापन लेने के लिये बुलाने के मुद्दे पर भाजपा नेताओं ने महिला कलेक्टर के खिलाफ व्यक्तिगत नारे भी लगाये थे।