आदिवासी शराब छोड़े तो गरीबी भी कम हो जायेगी: राजगोपाल

अशोकनगर| सामाजिक क्षेत्र में काम करने वाली संस्था पछार क्लब के द्वारा आज बुधवार को अशोकनगर विधानसभा के मडखेड़ा गांव में आदिवासीयो  बीच जन जागरूकता एवं उनके अधिकारों को लेकर एक आयोजन किया गया।जिसमें देश के प्रख्यात गांधीवादी चिंतक राजगोपाल पीवी ,विधायक जजपाल सिंह जज्जी एवं कनाडा की गांधी विचारक  जिल हैरिस मुख्य रूप से उपस्थित रही। इस दौरान पछार क्लब द्वारा आदिवासी महिलाओं को नई साड़ी एवं बच्चो को कपड़े वितरित किये। इस कार्यक्रम में कई विदेशी मेहमान भी उपस्थित रहे।

उल्लेखनीय है कि गांधी जयंती के अवसर पर दिल्ली से शुरू हुई जय जगत पदयात्रा अशोकनगर से  चंदेरी की ओर निकली है। मडखेड़ा गांव की आदिवासी बस्ती में इस यात्रा का आगमन हुआ। यात्रा में शामिल लोगों ने आदिवासियों की समस्याओं के बारे में बात की साथ ही।उनको समस्याओं के निराकरण के उपाय भी बताएं।

विधायक जजपाल सिंह जज्जी ने आदिवासियों को बताया कि राजाजी देश में आदिवासी हितों के लिये काम करने बाले सबसे बड़े व्यक्ति  है। जो बीते 50 वर्षों से उनके अधिकारों के लिए संघर्ष कर रहे हैं ।उन्हीं के प्रयासों से वनाधिकार जैसे कानून बन सके हैं।

श्री राजगोपालन ने आदिवासियों को बताया कि समाज में असमानता की जो खाई बन रही है उसे खत्म किया जाना चाहिए ।आदिवासियों के बीच से गरीबी को खत्म होना चाहिए ,साथ ही उन्होंने सरकारी तंत्र के द्वारा की जा रही योजनाओं के बारे में आदिवासियों को बताया। इस अवसर पर उन्होंने आदिवासी समाज से अपील की कि वह नशा मुक्ति का संकल्प ले। उनका कहना था कि शराब छोड़ेंगे तो घर से समाज से गरीबी कम होगी इसके बाद अतिथियों एवं विदेशी मेहमानों के द्वारा आदिवासी महिलाओं के लिए नई साड़ी, बच्चियों के लिए कपड़े एवं छोटे बच्चों के लिए उपहार दिए। इस अवसर पर क्लब के शमशाद पठान, हितेन्द्र बुधौलिया, प्रमेन्द्र तायड़े,धर्मेंद्र रघुवंशी, योगेश गुप्ता , इस्माइल खान, शैलेंद्र जैन रामस्वरूप शिवहरे,जितेन्द्र कोठारी नगरपालिका, आदि सदस्य उपस्थित रहे।