हिंदू मुस्लिम एकता की मिसाल देते हुए मनाया जश्ने ईद मिलादुन्नबी का त्यौहार

अशोकनगर मुंगावली अलीम डायर।

हर साल की तरह इस साल भी मुस्लिम समुदाय के लोगों ने अपने पैगंबर हुजूर साहब का जन्मदिन जो की जश्ने ईद मिलादुन्नबी के रूप में मनाया जाता है को बड़े ही हर्षोल्लास और धूमधाम से मनाया तो वहीं सर्व धर्म के लोगों ने मुस्लिम भाइयों को त्यौहार की बधाइयां दी इस त्यौहार पर सभी मुस्लिम समाज के लोग अपने अपने घरों में साफ-सफाई करते हैं रंग रोगन करते हैं घरों को दुल्हन की तरह सजाते हैं घरों के ऊपर नबी का परचम लहराते हैं और नगर के समस्त मजारों को भी रोशनी से सराबोर करते हैं और मोहल्लों में भी झालर चांद सितारे और रंगीन लाइट से रोशनी की जाती है।

इस त्यौहार में मुस्लिम समाज के सभी छोटे-बड़े बुजुर्ग और बच्चों में खासा उत्साह देखा गया सुबह से ही नगर के पुराने बाजार स्थित जामा मस्जिद में कुरान खानी का आयोजन किया गया जहां मुस्लिम समुदाय के लोगों ने कुरान की तिलावत की इसके बाद तबर्रुक तकसीम किया गया तो वही मोहल्लों में भी घर घर जाकर तबर्रुक तकसीम किया गया। इसी के साथ किरमानी मोहल्ला स्थित चोपड़े वाली मस्जिद में दरूदे पाक और नात का सिलसिला भी जारी रहा जिसमें छोटे छोटे बच्चों ने हुजूर की शान में नाते पाक और दरूद शरीफ पड़ी। जिसकी लोगों ने तारीफ की और उन्हें तोहफे से नवाजा।

वक्त की नजाकत और माहौल को देखते हुए इस वर्ष जुलूस का आयोजन नहीं किया गया जिससे नगर में भाईचारा प्रेमभाव और सौहार्द की कमी ना आए और गंगा जमुना की तहजीब जिंदा रहे।