अशोकनगर : हाईटेंशन का तार टूटकर सीधे बाइक पर गिरा युवक की मौत, एक घायल

ऊर्जा मंत्री के प्रभार के जिले में राज्यमंत्री के भाई ने कलेक्ट्रेट गेट पर शव रख कर प्रदर्शन किया

अशोकनगर, हितेंद्र बुधौलिया। जिले के पिपरई तहसील के ग्राम पिपरिया में बड़ी घटना सामने आई है। जहाँ 32 केवी हाई टेंशन लाइन गिरने के कारण एक युवक की मौत हो गई जबकि इस घटना में एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया जिसका जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। उल्लेखनीय है कि बिजली विभाग की लापरवाही का यह मामला प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के प्रभार के जिले का है। जहाँ कुछ दिन पहले ही उन्होंने बिजली विभाग के अधिकारियों को विद्युत लाइनें व्यवस्थित करने का निर्देश दिए थे।

यह भी पढ़े…MP पंचायत चुनाव पर संशय बरकरार, “आग से नहीं खेलने के मूड में निर्वाचन आयोग”

हम आपको बता दें कि मृतक युवक के शव को कलेक्ट्रेट के गेट पर रख कर राज्यमंत्री ब्रजेन्द्र सिंह यादव के भाई दर्शन सिंह ने परिजनों के साथ विरोध प्रदर्शन किया एवं इस घटना को बिजली विभाग की लापरवाही बताया, वहीं बिजली विभाग के अधिकारियो ने इसे प्राकृतिक आपदा बताया साथ ही लापरवाही की शिकायतो की जांच की बात भी कही है।

यह भी पढ़े…डाक्टर्स की नाराजगी का अनूठा तरीका, देखकर लोग हुए हैरान

दरअसल, मामला दोपहर 3:00 बजे का बताया जा रहा है, पिपरेसरा गाँव के 19 वर्षीय युवक अनिल और छोटू बाइक पर सवार होकर अपनी फसल देखने के लिए जा रहे थे। तभी सड़क के ऊपर से निकली हाईटेंशन तार टूट कर उनके ऊपर गिर गया। इस हादसे में तार टूट कर सीधा बाइक चालक के ऊपर गिरा, जिससे बाइक सवार एवं चालक गंभीर रूप से घायल हो गए। जिन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल लाया गया जहां अनिल यादव को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। वहीं छोटू यादव को जिला अस्पताल में गंभीर अवस्था में भर्ती कराया गया है। गुस्साए परिजनों ने कलेक्ट्रेट में शव रखकर धरना देना शुरू कर दिया है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एवं एसडीएम मौके पर पहुंचे। उन्होंने एक घंटे तक लोगो को समझाया, साथ ही इस घटना में लापरवाही की जांच का भी आश्वासन दिलाया। तब जाकर कही हंगामा खत्म हुआ।

यह भी पढ़े…मध्यप्रदेश में फिर बढ़े कोरोना के केस, हाई लेवल मीटिंग में CM Shivraj का बड़ा फैसला

इस धरने में पीएचई मंत्री बृजेंद्र सिंह यादव के भाई दर्शन सिंह मौजूद थे, उनका कहना है कि लगातार लंबे समय से किसान बिजली के झूलते तारों की शिकायत कर रहे थे। लेकिन विद्युत विभाग के अधिकारी के कान पर जूं तक नहीं रेंगी। इस कारण इन झूलते तारों का खामियाजा मृतक के परिजनों को चुकाना पड़ा। जिसमें हाईटेंशन लाइन गिरने से एक युवक की मौत तो वही दूसरा गंभीर रूप से घायल हो गया है।