MP चक्का जाम: सरकार के खिलाफ किसान आंदोलन में BJP सांसद के भाई शामिल

सांसद जैसे सबसे बड़े जनप्रतिनिधि के परिवार के लोग खुद खुलकर सरकार की मुखालफत कर रहे हो तो ,इस पर जवाब देना बीजेपी के लिए कठिन होगा

अशोकनगर, हितेंद्र बुधौलिया। केंद्र सरकार के खिलाफ किसान कानूनों को लेकर आज हो रहे देश व्यापी आंदोलन के दौरान अशोकनगर में हुये चक्का जाम में गुना -शिवपुरी के सांसद डॉ. के पी यादव के छोटे भाई अजयपाल सिंह भी शामिल हुये। विदिशा रोड पर टोल नाके के पास हुये चक्काजाम में सांसद के भाई अजयपाल सरकार के खिलाफ चल रही नारेबाजी एवं विरोध प्रदर्शन में किसानों के साथ धरने पर बैठे। उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व भी बीजेपी सांसद के भाई ने किसान आंदोलन को समर्थन दिया था।

उल्लेखनीय है कि विभिन्न विपक्षी दलों सहित तमाम सारे किसान संगठन जब बीजेपी की केंद्रीय सरकार द्वारा लाए गए किसान कानूनों को वापस करने एवं विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं ।उस दौरान भारतीय जनता पार्टी के सांसद डॉ के पी यादव के छोटे भाई सरकार के खिलाफ हो रहे आंदोलन में शामिल हुए, तो बीजेपी एवं सांसद के लिए यह किरकिरी का मामला बन गया है।

Read More: किसान आंदोलन: ग्वालियर में तीन अलग अलग जगहों पर किया चक्का जाम

जब भारतीय जनता पार्टी के राजनेता इस बिल को किसानों के हित में बता रहे हैं ।तब सांसद के परिवार से जुड़े लोग इसका विरोध करें तो ,बीजेपी के लिए यह असहज स्थिति हो रही है।क्योंकि सांसद जैसे सबसे बड़े जनप्रतिनिधि के परिवार के लोग खुद खुलकर सरकार की मुखालफत कर रहे हो तो ,इस पर जवाब देना बीजेपी के लिए कठिन होगा ।bjp द्वारा बिल को किसानों के पक्ष में बताए जाने की कोशिशों को भी यह बड़ा धक्का माना जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि जोतिरादित्य सिंधिया जैसे देश के बड़े राजनेता को हराकर सुर्खियों में आए सांसद डॉक्टर के पी यादव एवं उनके परिवार से जुड़े विवाद पूर्व में भी सामने आते रहे है।हालिया समय मे हुये विधानसभा उपचुनाव के दौरान भी सांसद केपी यादव के भाई अजयपाल यादव कॉंग्रेस के नेताओ से लगातार मिलते रहते थे।अब किसान आंदोलन में शामिल हो कर फिर उन्होंने सुर्खिया बटोरी है और अपने सांसद भाई को सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया है।कि जब आप घर के लोगो को कृषि बिल के बारे में समर्थन में नही कर पा रहे तो आ किसान किस तरह इस बिल पर भाजपा को बातों पर भरोसा करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here