अशोकनगर में कांग्रेस का शक्ति प्रदर्शन, जयवर्धन की सभा में लोगों का हुजूम उमड़ा

अशोकनगर, हितेंद्र बुधौलिया। पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं विधायक जयवर्धन सिंह कांग्रेस सरकार गिरने के बाद जब जिले में पहुंचे तो बड़ी तादाद में लोगो ने उनका स्वागत किया।ज्योतिरादित्य सिंधिया के गढ़ माने जाने वाले अशोकनगर में अब कांग्रेस की कमान जयवर्धन संभालेंगे, इसकी घोषणा भी वह खुद कर गये। इस कारण उनका यह दौरा राजनैतिक रूप से काफी महत्त्वपूर्ण आंका जा रहा है, क्योंकि जिस इलाके को कांग्रेस में रहते सिंधिया के हवाले छोड़ा हुआ था आने वाले समय में वहां जयवर्धन की उनके लिए चुनौती बन सकते हैं।

कोरोना काल की तमाम चेतावनियों एवं सलाहों को दरकिनार करते हुए उनकी सभा में लोगो खूब हुजूम उमड़ा। कांग्रेस नेता इन दिनों अपने दौरे को शक्ति प्रर्दशन के रूप में भी जता रहे हैं। ऐसे में जिले के सीमा पिलीघटा से मुंगावली तक जवर्धन सिंह का जो स्वागत हुआ उससे लगता है कि जनता के बीच उनकी लोकप्रिय छवि का लाभ कांग्रेस को हो सकता है।उनके साथ सैकड़ों गाड़ियों का काफिला था तो नए पुराने कांग्रेसी भी लंबे समय के बाद जोश के साथ मैदान में थे। जयवर्धन सिंह का जगह जगह स्वागत किया गया। उनका यह दौरा भाजपा के लिये भी एक खुली चुनौती की तरह रहा क्योंकि फिलहाल वही हैं जो राजघराने की ताकत, ग्लैमर और राजनीतिक परंपरा में सिंधिया का सामना करते हैं।

अशोकनगर और मुंगावली विधानसभा के उपचुनाव के संदर्भ में जयवर्धन सिंह ने कहा कि जनता को गिरवी रखकर विधायकों ने जनता के साथ विश्वासघात किया है। यही जनता आने वाले चुनाव में जनता इन विधायकों सबक सिखाएगी। वहीं सिंधिया पर निशाना साधते हुए उन्होने कहा कि वो अपने विधायकों के साथ कांग्रेस छोड़कर भाजपा में गये, इसी कारण मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार गिरी है। लेकिन अब पूरी ताकत के साथ उपचुनाव के लिए पार्टी तैयार है और कांग्रेस कार्यकर्ता पिछले 5 माह में घर-घर जाकर जनता से रूबरू हो रहे हैं। कांग्रेस को जनता का अपार समर्थन भी मिल रहा है, आने वाले उपचुनाव में अशोकनगर और मुंगावली में कांग्रेस प्रचंड बहुमत से जीतेगी। साथ ही उन्होने पूर्व विधायक जजपाल सिंह जज्जी द्वारा उनके मंत्री रहते तुलसी सरोवर सौन्दर्यीकरण के काम को रद्द करने के आरोप पर कहा कि यह काम उनके कार्यकाल में में शुरु हुआ था, जिसके लिये एक करोड़ की राशि स्वीकृत की थी। कांग्रेस में रहते सिंधिया समर्थक मंत्री विधायकों के सरकार में काम ना होने के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि जो लोग खुद सरकार में थे वह यह बात कह रहे है इससे सिध्द होता है कि वो खुद काम नही करा रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here