मुंगावली अशोकनगर , स्वदेश शर्मा।  जिले में अवैध उत्खनन हमेशा से चर्चा में रहा है। हाल ये है कि कलेक्टर द्वारा बनाये गये चैकिंग प्वाइंट पर ठेकेदार के गुर्गे बंदूक रखकर वसूली करते हैं। हालांकि समय समय पर प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा इस पर कार्रवाई भी की गई, लेकिन रेत का यह अवैध कारोबार रुकने का नाम नही ले रहा है। इनके हौंसले अब इतने बुलंद हो गए हैं कि बात मारपीट व पुलिस थाने तक पहुँचने लगी है।

चैकिंग पाइंट पर बंदूक के साथ वसूली
शुक्रवार की सुबह ठेकेदार के गुर्गों के द्वारा कलेक्टर द्वारा बनाये गये चैकिंग पाइंट पर बंदूक रखकर वसूली की जा रही थी। जब कुछ लोगो ने इसका विरोध किया तो वसूली करने वालों ने गाली गलौज की, साथ ही पुलिस को बुला लिया गया। मौके पर पहुँची पुलिस द्वारा भी यहां खड़े लोगों पर लाठियां भांजी गई और लगभग आठ मोटरसाइकिलों को पुलिस थाने ले गई। इसके बाद कुलदीप भदौरिया की रिपोर्ट पर पांच लोगों के विरुद्ध रास्ता रोककर मारपीट करने का मामला दर्ज कर लिया गया।

तीन हजार वसूली, फिर भी पकड़ गया ट्रेक्टर
यदि इस विवाद के पीछे का कारण देखा जाए तो मुख्य वजह यह रही कि ठेकेदार के द्वारा बेतवा के निसई घाट पर स्वीकृत घाट न होने के बाद भी अवैध रूप से रेत का उत्खनन किया जा रहा था। तीन हजार रुपये में एक ट्राली भरी जा रही थी। ठेकेदार के द्वारा कहा जाता था कि इस ट्रेक्टर ट्रॉली को कोई नही रोकेगा। लेकिन गुरुवार की देर शाम पुलिस ने एक ट्रैक्टर को पकड़कर थाने में खड़ा कर दिया। जिसके बाद इन लोगों ने ठेकेदार के लोगों से कहा कि आपने किस आधार पर पैसे लेकर ट्राली भरी। इसी बात पर इनके साथ बदसलूकी की गई और ठेकेदार के आदमियों ने रुतबे का गलत उपयोग करके इन लोगों पर मामला दर्ज करा दिया।

मारपीट में ट्रैक्टर चालक का हाथ टूटा 
क्षेत्र में अवैध उत्खनन किस तरह गुंडागर्दी के साथ बाहरी ठेकेदार के द्वारा किया जा रहा है उसका अंदाजा ट्रेक्टर चालक सुदीप के आरोप को सुनकर लगाया जा सकता है। ट्रेक्टर चालक सुदीप का आरोप है कि गुरुवार की शाम सात बजे के आसपास वह निसई घाट से रेत लेकर आ रहा था तभी निसई के यहां ठेकेदार के आदमी व चौकी प्रभारी खड़े थे जिन्होंने मारपीट की जिसमें उसका हाथ टूट गया। इसके बाद भी ठेकेदार के गुर्गों व चौकी प्रभारी ने इस युवक को नही छोड़ा और चौकी ले गए जहां इसका एक वीडियो बनाया और चालान काट दिया। उसके बाद लगभग एक घण्टे बाद इस युवक को यहां से छोड़ा गया।

बैरियर पर आखिर कैसे की जा रही अवैध वसूली
अवैध उत्खनन पर अंकुश लगाने के लिए कलेक्टर अभय वर्मा के द्वारा मुंगावली ब्लॉक के कई खनिज चौकी खोली गई है। ऐसी ही चौकी मल्हारगढ़ रोड़ मुक्तिधाम के पास बनाई गई है। इसी चौकी पर बैठकर यह बाहरी व्यक्ति कई दिनों से बन्दूक की दम पर वसूली करते थे। लेकिन सवाल यह उठता है कि आखिर किस आधार पर यहां से वसूली की जा रही थी और इस सब के बाद जनता के विरोध करने पर निर्दोष लोगों पर ठेकेदार के रसूख के चलते मामला भी दर्ज करा दिए गये।