Double-murder-and-robbery-exposed-in-ashoknagar-

अशोकनगर| अशोकनगर जिले के नई सराय थाने के विसोर गांव में 18 दिसंबर की रात गांव के बाहर खेत मे मकान बना कर रह रहे 65 वर्षीय निहाल सिंह रघुवंशी एवं उनकी पत्नी गीता रघुवंशी की हत्या एवं उनके घर मे हुई डकैती के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है।  पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार जैन ने बताया कि इस मामले में मृतक के खेतों में बंटाईदारी  का काम करने बाले बलवीर केवट ने पैसे के लालच में अपने एक रिश्तेदार एवं तीन अन्य लोगो को बुला कर यह वारदात करवाई है। पुलिस ने इन बदमाशों से 3 कट्टे ,लुटे गये गहने एवं नगदी के अलाबा बारदात में उपयोग की गई मोटरसाइकिल बरामद कर ली है।जबकि मृतक के घर से डकैती के दौरान अपने साथ ले गये आल्टो कार भी बदमाशो ने नरवर के जंगलों में होना बताया है।

पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार जैन ने बताया कि मृतक का बटाईदार यह जानता  की मृतक साहूकारी का काम करता है।इसलिय उसने पैसे के लालच में अपने एक रिश्तेदार दीपक केवट जिसका पूर्व से आपराधिक रिकार्ड रहा है उसके तीन अन्य  साथियों महेश ढीमर ,शिवम जाटव एवं बंटी सेहरिया सभी निवासी  शिवपुरी के साथ इस घटना को अंजाम देने के बुलाया।बलवीर ने घर के पिछले दरवाजे से जा कर घर मे लगे cctv कैमरे बन्द कर दिये।रात करीब 11 बजे ये  चार बदमाश घर मे घुसे तो निहाल सिंह ने बदमाशों का विरोध किया ।बंटी सहरिया ने मृतक के पैर में टॉमी से हमला किया इसके बाद भी निहाल सिंह ने विरोध जारी रखा तो महेश ढीमर में बड़ी बेरहमी से निहाल सिंह की कनपटी के पास से सिर में गोली मार थी।इस दौरान बदमाशो ने निहाल सिंह की पत्नी गीताबाई को दूसरे कमरे में ले जा कर कुर्सी पर साड़ी से बांध दिया।घर मे रखे नगदी एवं जेवरात ले  कर जाते समय दीपक केवट ने गीता बाई को भी  गोली मार दी। 

 प्रेस कॉन्फ्रेस में पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार जैन ने बताया कि मृतक के चोकीदार भरोसा कुशवाह को बदमाशो ने घर के बाहर ही बांध दिया था।उसी ने बाद में पुलिस की घटना की सूचना दी।पुलिस ने मृतक के कॉल डिटेल एवं सन्देह के आधार पर बटाईदार बलवीर केबट से पूछताछ की तो उसी से इस हत्याकांड का खुलासा हुआ।इस मामले में पुलिस ने चार अलग अलग टीमें बनाई थी। बदमाशो को पकड़ने के लिये पुलिस ने एक ढावे पर नाटकीय रूप से काम भी किया तब जा कर  सभी आरोपी पकड़े जा सके।