भाजपा के ‘खेत धरना’ में नहीं पहुंचे किसान, यह थी वजह

अशोकनगर| प्रदेश भर यूरिया खाद को लेकर संकट बना हुआ है। किसान 2-2कट्टी खाद के लिये घण्टो लाइन में लगा है। इसी मुद्दे पर सरकार के खिलाफ  भाजपा ने खाद विक्रय केंद्रों के पास धरना देने की योजना बनाई थी। मगर आज अचानक शासकीय खाद बिक्रय केंद्रों की बजह दुकानों से किसानों को खाद बंटने लगा, जिससे भाजपा के खेत धरना में किसान पहुँचे ही नही। भाजपा ने इसे प्रशासन की सोची समझी चाल बताते हुये कहा कि प्रशासन ने उनके धरने के कारण यह जानबूझकर किया है। 

 भाजपा द्वारा विदिशा रोड स्थित विपणन संघ  कार्यलय के बाहर धरना प्रदर्शन किया गया| लेकिन प्रशासन द्वारा विपणन संघ से खाद का वितरण किसानों को नहीं करते हुए निजी दुकान संचालकों से कराया गया किसानों की समस्या को लेकर भाजपा द्वारा केंद्र के बाहर धरना दिया गया जिसमे जायदातर पार्टी के लोग ही शामिल रहे। धरने के दौरान बीजेपी जिलाध्यक्ष उमेश रघुवंशी ने मध्य प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधा |

उन्होंने बताया कि कांग्रेसी नेताओं के इशारे पर किस तरह विभाग के अधिकारी किसानों को परेशान करने में लगे हुए हैं और खाद की कालाबाजारी धड़ल्ले से कर रहे हैं । उन्होंने कहा खाद की कृतिम समस्या पैदा की गई है।जिलाध्यक्ष ने बताया कि केंद्र के बाहर धरना देने का उद्देश्य किसानों को खाद का वितरण तरीके से हो और हमारा किसान परेसान न हो इस उद्देश्य से हमने यहाँ धरना दिया है,लेकिन सरकार के दबाब में प्रशासन ने आज यहाँ किसानों को खाद का वितरण भी नहीं कराया जबकि प्राइवेट दुकान संचालकों से आज उनकी दुकानों पर कार्य करवाया गया। उन्होंने कहा कि अगर किसानो को परेशान किया गया तो हम सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन करने के लिए मजबूर होंगे।