अशोकनगर के चंदेरी में स्कूल शिक्षक के ट्रांसफर को रोकने छात्र और परिजन उतरे मैदान में

अशोकनगर, हितेन्द्र बुधोलिया।  ये खबर बिल्कुल फ़िल्मी कहानी सी है। जिसमें एक समर्पित एवं आदर्श शिक्षक को स्कूल से जाने से रोकने के लिय स्कूल के बच्चे एवं पालक एकजुट हो कर सत्याग्रह पर अड़ जाते है।बिल्कुल ऐसा ही वाकया अशोकनगर के चंदेरी मे देखने को मिला है। जहाँ अपनी उच्चगुवत्ता की शिक्षा, नवाचारो एवं आलादर्जे के परीक्षा परिणाम को लेकर प्रदेश भर मे चर्चित चंदेरी के मॉडल स्कूल के प्राचार्य रामसहाय कटारे के पक्ष मे स्कूल मे पढ़ने बाले बच्चों के 250 से अधिक पालको ने श्याम वाटिका मे बैठक कर एक ज्ञापन विभिन्न जिम्मेदारो को दिया है। पालकों को सूचना मिली है कि इस स्कूल को अपने समर्पण एवं मेहनत से एक आदर्श स्कूल बनाने वाले प्राचार्य रामसहाय कटारे का यहां से ट्रांसफर किया जा रहा है। पालकों की बैठक का पता क्षेत्रीय विधायक गोपाल सिंह चौहान को लगा तो वह लोगों के बीच पहुंचे एवं जिले के प्रभारी मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर से इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की।

यह भी पढ़ें…. IndBank Recruitment: नौकरी का सुनहरा मौका, 1 लाख रुपए से अधिक सैलरी, जल्दी करें आवेदन

चंदेरी के लोगो ने मंत्री, सांसद, विधायक आदि को लिखें ज्ञापन मे बताया है की चंदेरी के ही एक व्यक्ति योगेश मिश्रा द्वारा इस स्कूल से बार बार बेबजह की आर. टी.आई. की जानकारी मांग कर प्राचार्य एवं यहां के स्टाफ को परेशानी किया जा रहा है। पालकों को ज्ञात हुआ है कि लगातार प्राचार्य को व्यक्तिगत रूप से परेशान करने के कारण उन्होंने इस स्कूल से जाने का मन बना लिया। इसी के बाद यहां के पालकों ने प्राचार्य को मॉडल स्कूल मे ही रखने की मांग को लेकर बैठक की है। इस स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के पालकों का मानना है, मॉडल स्कूल चन्देरी का दायरा केवल विकासखंड चन्देरी तक ही सीमित नहीं है वरन आसपास के विकासखंडों के छात्र छात्राएं भी इसमें प्रवेश के लिए किस्मत आजमाते हैं।पालकों में मॉडल स्कूल चन्देरी को लेकर बड़ी सकारात्मक सोच है।सबसे अच्छी बात यह है कि मॉडल स्कूल का कोई भी शिक्षक ट्यूशन खोरी में लिप्त नहीं है।न ही छात्र छात्राओं को ट्यूशन का सहारा लेने पर विवश होना पड़ता है।कोविड काल मे भी यह स्कूल अपने नवाचारों के लिए प्रदेश स्तर पर प्रशंसा पाता रहा है।

यह भी पढ़ें… MP : सीएम के निर्देश का असर, 10 जिलों के कलेक्टर्स रहे आगे, फिसड्डी साबित हुए ये 5 जिले

गौरतलब है कि मॉडल स्कूल चन्देरी का बाहरी व आंतरिक परिसर बेहद आकर्षक है। प्रयोगशालाएं,पुस्तकालय सर्व सुविधा युक्त व वेहतर स्तर के हैं। इंडोर स्पोर्ट रूम और संगीत कक्ष भी आकर्षण का केंद्र हैं। इन सब को बनाने में प्राचार्य रामसहाय कटारे की दिन-रात की मेहनत रही है। सभी पालकगण इसलिए एकत्रित हुए है प्राचार्य एवं अन्य शिक्षक माँडल स्कूल में ही रहकर अध्यापन कार्य कराते रहे। साथ ही ऐसे लोगों के विरुद्ध भी उचित कार्यवाही की जाए जो बार-बार विद्यालय में आर टी आई लगाकर बच्चों की पढ़ाई प्रभावित करते हैं।

यह भी पढ़ें… Astrology Fact : कितनी ही इमरजेंसी क्यों ना आ जाए, पर भूल से भी न ले ये 5 चीजें उधार

पालकों के एकत्रित होने पर उनके बीच पहुंचे चंदेरी विधायक
मॉडल स्कूल के छात्र/ छात्राओं के पालकों के इतनी अधिक संख्या में एकत्रित होने की सूचना जैसे ही चंदेरी विधायक गोपाल सिंह चौहान को लगी तो वह पालकों के बीच पहुंच गए, उनकी समस्या को समझकर अशोकनगर जिले के प्रभारी मंत्री प्रघुमन सिंह तोमर से फोन पर पालकों के सामने ही चर्चा की। उन्होंने प्रभारी मंत्री को अवगत कराया कि राम सहाय कटारे के उत्कृष्ट अध्यापन कार्य के चलते मॉडल स्कूल चंदेरी पूरे मध्यप्रदेश में शिक्षा के क्षेत्र में पहले स्थान पर है। कटारे जी को उत्कृष्ट कार्य के लिए राज्यपाल द्वारा पुरस्कृत भी किया जा चुका है। लेकिन एक आरटीआई कार्यकर्ता द्वारा जानकारियां मांगकर उन्हें परेशान किया जा रहा है। जिसके कारण उन्होंने स्कूल छोड़ने का मन बना लिया है। विधायक गोपाल सिंह चौहान की बात पर फोन पर ही प्रभारी मंत्री ने जल्द ही समस्या का निराकरण कराने का आश्वासन भी दिया।