अशोकनगर| हितेंद्र बुधोलिया| अभी तक तो गांव एवं खेतों में टिड्डी दल का आतंक चल रहा था। सुबह से जिले भर के अलग-अलग स्थानों पर घूम रहा टिड्डी दल शाम होते ही जिला मुख्यालय पर कलेक्टोरेट कार्यलय में घुस गया।यहां के पेड़ों पर बैठे टिड्डी दल को भगाने के लिये अपर कलेक्टर की अगुआई में तमाम अधिकारी कर्मचारी मौके पर पहुच कर इसे भगाने का प्रयास कर रहे है। कृषि विभाग एवं प्रशासन की टिड्डी नियंत्रण की तैयारियों की पोल भी इस मामले में खुल गई है। कलेक्ट्रेट में करीब डेढ़ घंटे तक अधिकारी खड़े रहे मगर इसे भगाने का उपाय संबंधित कर्मचारी अधिकारी नही जुटा पाये।

दिन भर से जिले के अलग-अलग गांवो में घूम रह यह दल अचानक शाम होते-होते शहर में घुस आया। शहर के आसमान में उड़ते उड़ते अंधेरा होते ही यह कलेक्ट्रेट के पेड़ों पर आकर बैठ गया। साथ ही तहसील एवं रेलवे स्टेशन के आसपास के पेड़ों पर अपना बसेरा जमाए हुए हैं।करीब आधा किलोमीटर के इलाके के पेड़ों पर पूरा टिड्डी दल बैठा हुआ है। कलेक्ट्रेट परिसर में दल के घुसने की सूचना मिलते ही अपर कलेक्टर अनुज रोहतगी एसडीएम सुरेश यादव सहित कृषि एवं अन्य विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे हैं । फायर बिग्रेट से कीटनाशक का छिड़काव कर दल को भगाने का प्रयास कर रहे हैं ।साथ ही तहसील परिसर के पीछे कर्मचारी आवास के आसपास के पेड़ों पर भी टिड्डी दल ने अपना जमावड़ा बनाया हुआ है। यहां पर लोग थाली बजाकर ए इसे भगाने का प्रयास कर रहे हैं ।भारी तादात में टिड्डियो की संख्या का अंदाजा इसी से लगाया जा रहा कि कई पेड़ो की डालिया तक टूट कर गिर गई।