मानव सेवा समिति ने आदिवासी ग्राम को लिया गोद, दिया स्वच्छता का संदेश

अशोकनगर मुंगावली। अलीम डायर।

हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी मानव सेवा समिति एवं सनटॉप कॉन्वेंट हाई स्कूल के तत्वधान में मुंगावली तहसील से सटे आदिवासी ग्राम सरदारपुर को गोद लेकर ग्रामीण वासियों को साफ स्वच्छ कर उन्हें स्वास्थ्य शिक्षा और सुरक्षा की जानकारी देकर भोजन कराया गया।

इस कार्यक्रम का उद्घाटन मानव सेवा समिति के अध्यक्ष अब्दुल करीम अंसारी एडवोकेट एवं गणेश सोनी ने राष्ट्रगीत और राष्ट्रगान के साथ महात्मा गांधी के चित्र पर माल्यार्पण कर शुरुआत की उन्होंने विद्यालय द्वारा आयोजित इस तरह के कार्यक्रम की प्रशंसा की जिससे आदिवासियों गरीब गांव वालों को शहर के विद्यालय को देखकर बहुत कुछ सीखने को मिलता है ।

स्वच्छता, स्वास्थ्य, शिक्षा और शुद्ध भोजन के संबंध में समिति के डॉ अमित नामदेव प्रभारी जैन औषधालय ने शिविर में ग्राम वासियों को बताया और आयुर्वेदिक दवाएं जैन औषधालय मुंगावली से उपलब्ध कराई। शासकीय चिकित्सालय के स्टाफ ने भी ग्रामीण आदिवासियों को स्वास्थ्य संबंधी उचित जानकारियां दी गई साथ ही मरीजों को निशुल्क दवाएं दी गई ।

थाना प्रभारी मुंगावली ने अपने प्रतिनिधि दौहरेजी और रघुवीर सिंह जी को भेजा जिन्होंने उपस्थित गांव वालों को और छात्र छात्राओं को पुलिस के द्वारा दी जा रही सुविधाओं के बारे में अवगत कराया ,पुलिस और छात्र मैत्री तथा बच्चों को शिक्षित होना और आगे बढ़ने की सलाह दी। विद्यालय के प्राचार्य ओपी खडडर ने ग्राम वासियों को स्वास्थ संबंधी ,शिक्षा संबंधी ,स्वच्छता संबंधी अनेक विषयों पर जानकारियां उपलब्ध कराई।

सेंट्रल स्कूल के स्टाफ ने पूरे गांव वालों का नाश्ता चाय और भोजन की व्यवस्था की, बच्चों के बाल और नाखूनों को काटा गया, उनको साबुन से नहलाना सुखाया गया, साथ ही उन्हें कपड़े और तेल कंगाकर पूरे गांव वालों को स्वादिष्ट भोजन कराया । गांव वालों ने और विद्यालय के छात्र-छात्राओं और अध्यापक गणों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम ही किए और स्वच्छता की पेंटिंग भी बनाई जिसकी गांव वालों ने प्रशंसा की।

इस कार्यक्रम को आयोजित करने में विद्यालय के उप प्राचार्य मोहम्मद सरकार ,प्रबंधक कारी जाकिर खान प्रदीप पालीवाल, श्रीमती आशा श्रीवास्तव, खेलन सिंह, श्रीमती आशा पुरोहित ,श्रीमती राम मणि राजपूत ,कुमारी निकिता बेस श्री ओवैस खान व अन्य सभी अध्यापक गण एवं छात्र छात्राओं ने वा अंपू महाराज और मिर्जा जी के द्वारा ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था की गई।