मंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव ने जनता रसोई का किया शुभारंभ, मरीजों व अटेंडरों को मिलेगा निशुल्क भोजन

मंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव ने मुंगावली के सिविल अस्पताल में जनता रसोई का शुभारंभ किया। अब से अस्पताल में आने वाले सभी मरीजों व अटेंडरों को निशुल्क भोजन मिलेगा।

Minister Brajendra Singh Yadav

अशोकनगर, स्वदेश शर्मा। शनिवार को मुंगावली में स्थानीय विधायक व प्रदेश सरकार के मंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव (Minister Brijendra Singh Yadav) ने अपनी ओर से जनता रसोई (Janata Rasoi) का शुभारंभ मरीजों व उनके अटेंडरों को खाना के पैकेट बांधकर किया। इस दौरान मंत्री ने कोविड वार्ड में पहुंचकर न केवल मरीजों से बात की बल्कि उनको खाने के पैकेट वितरित किये। साथ ही कोविड वार्ड में भर्ती मरीजों से चर्चा करके उनका उत्साहवर्धन किया। उन्होंने भोजन की व्यवस्था देखने वाले अपने कार्यकर्ताओं से कहा कि प्रतिदिन बदल-बदलकर सब्जी भेजेंगे। साथ ही पूड़ी की जगह रोटियां दी जाए, जिससे कि मरीजों को दोनों समय स्वादिष्ट भोजन मिल सकें।

यह भी पढ़ें:-मध्यप्रदेश में ब्लैक फंगस महामारी घोषित, सीएम शिवराज ने कही ये बड़ी बात

सिविल अस्पताल में जनता रसोई का उद्घाटन करने के बाद मंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव नगर परिषद सभागार में क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक में सम्मिलित हुए। उन्होंने कहा कि 45 वर्ष से अधिक के नागरिकों को वैक्सीनेशन अधिक से अधिक कराने के लिए प्रेरित करें। साथ ही अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों से कहा कि खाघान्न वितरण की निगरानी करें और कमी पाई जाने पर तुरंत कार्रवाई करें। वहीं ग्रामीण स्तर पर जिन ग्राम पंचायतों में कोरोना मरीजों की संख्या अधिक है, उन ग्राम पंचायतों को रेड जोन में करके स्पेशल मॉनिटरिंग करें, जब तक पॉजिटिव संख्या शून्य नहीं हो जाती।

सख्ती से हो कोरोना कर्फ्यू का पालन
बैठक में मंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव ने सभी अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि कोरोना कर्फ्यू में अभी थोड़ी ढिलाई देखी जा रही है। लेकिन अब अधिकारी सुन लें कि कोरोना कर्फ्यू का सख्ती से पालन किया जाना चाहिये। जिससे कि जो संक्रमण की चैन को तोड़ा जा सके। यदि कर्फ्यू का सख्ती से पालन नहीं कराया गया तो अधिकारियों पर कार्रवाई की जाएगी।

लोगों के बीच पहुंचे मंत्री
जनता रसोई का शुभारंभ करने मुंगावली पहुंचे मंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव ने यहां मौजूद लोगों की समस्याएं सुनी। इस दौरान खजुरिया गांव निवासी जितेंद्र दांगी की पत्नी ने विधायक को बताया कि सास-ससुर और जेठ मारते हैं। साथ ही जमीन भी नहीं दी, परिवार सहित आत्महत्या कर लेंगे। जिस पर मंत्री ने महिला को न केवल समझाया बल्कि मौके पर मौजूद एसडीएम राहुल गुप्ता को कागज देकर निर्देशित किया कि जल्द महिला का परिवारिक जमीनी विवाद सुलझाया जाए।