MP Board: 8वीं के गणित के पेपर मे संस्कृत के सवाल, मचा हड़कंप, गुरूवार को होना है एग्जाम

आज परीक्षार्थियों ने गणित का प्रश्न हल करना शुरू किया, तो उसमें संस्कृत के प्रश्न देखकर दंग रह गए और तुरंत इसकी शिकायत की, जिसके बाद केंद्र अध्यक्षों ने मामला शिक्षा विभाग अधिकारियों को बताया।

mp board

अशोकनगर, हितेन्द्र बुधौलिया। MP Board.अभी तक तो नकल माफियाओं के द्वारा प्रश्न पत्र आउट होने के मामले सामने आते रहे है। मगर मध्य प्रदेश के अशोक नगर (Ashok nagar) में सरकारी सिस्टम द्वारा ही कक्षा आठवीं के संस्कृत का पेपर आउट कर किये जाने का मामला सामने आया है। हैरानी की बात तो ये है कि जिस संस्कृत विषय का पेपर गुरूवार को होना था।उस विषय के कुछ प्रश्न आज गणित के प्रश्न पत्र के साथ मैं शामिल हो गए हैं।

यह भी पढ़े.. हजारों पेंशनरों के लिए बड़ी खबर, जल्द पूरा करें ये काम, रुक सकती है अप्रैल की पेंशन

इसका खुलासा तब हुआ जब आज परीक्षार्थियों ने गणित का प्रश्न हल करना शुरू किया, तो उसमें संस्कृत के प्रश्न देखकर दंग रह गए और तुरंत इसकी शिकायत की, जिसके बाद केंद्र अध्यक्षों ने मामला शिक्षा विभाग अधिकारियों को बताया।गणित के प्रश्न पत्र में संस्कृत के प्रश्नों को शामिल किया जाना एक बड़ी चूक के तौर पर सामने आया है। अशोकनगर के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय क्रमांक 2 की परीक्षा केंद्र अध्यक्ष ममता तिवारी ने बताया कि जैसे ही उन्हें मालूम पड़ा, कि गणित के पेपर में संस्कृत के प्रश्न लिखे हुए है। तो पूरा मामला वरिष्ठ अधिकारियों को बताया है।

उनका कहना है कि उन्हें मौखिक रूप से अधिकारियों ने बताया है कि गणित के प्रश्न पत्र में संस्कृत के जो सवाल आ गए हैं उन पर उत्तर ना लिखवाया जाए साथ ही अगर कल होने वाले संस्कृत के पेपर यही प्रश्न आते है तो उन सवालो के सभी छात्रों को कॉमन नंबर देने पर भी विचार किया जा जा सकता है।फिलहाल मामला वरिष्ठ अधिकारियों के पास है, और सरकारी सिस्टम से ही पेपर के आउट होने से कई सारे सवाल खड़े हो गए।

यह भी पढ़े.. गर्मियों में तरबूज से निखारे अपनी खूबसूरती, घर पर ऐसे बनाएं फेसपैक

बता दे कि मध्य प्रदेश में शासकीय विद्यालयों (MP Government School) में 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षाओं की तर्ज पर 5वीं और 8वीं कक्षाओं के विद्यार्थियों का वार्षिक मूल्‍यांकन 1 अप्रैल से शुरू हो गया है।खास बात ये है कि इस वर्ष 5वीं और 8वीं के प्रश्‍न-पत्रों का निर्माण भी राज्‍य स्‍तर पर किया गया है। साथ ही उत्‍तर पुस्तिकाओं का मूल्‍यांकन भी दूसरे स्‍कूलों और अन्‍य जिलों में भी किया जायेगा। प्राप्‍तांकों को ऑनलाइन व्‍यवस्‍था में एकीकृत कर अंकसूची का छात्र वार निर्माण भी कम्‍प्‍यूटरीकृत रूप से किया जायेगा। अंकसूची विद्यार्थी को ऑनलाइन भी प्राप्‍त हो सकेगी।