नगर परिषद ड्राइवर ने तीसरी मंजिल से लगाई छलांग, अधिकारियों पर प्रताड़ना का आरोप

अशोकनगर, हितेन्द बुधौलिया। जिले की शाडोरा नगर पंचायत के ड्राइवर संतोष कुशवाह ने बुधवार को अशोकनगर में लेक सिटी के सामने स्थित एक मल्टीस्टोरी बिल्डिंग के तीसरी मंजिल से कूदकर आत्महत्या करने की कोशिश की। इस दुर्घटना में उसके दोनों पैरों में फैक्चर आया है। उसने अधिकारियों पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है।

ड्राइवर ने नगर परिषद शाडौरा के सीएमओ राकेश मिश्रा पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। उसका कहना है कि उसकी सेवाएं समाप्त करने की धमकी दी जा रही थी। इसी से आहत होकर उसने जान देने की कोशिश की। इस मुद्दे पर सीएमओ का कहना है कि वो कर्मचारी लगातार कार्य में लापरवाही कर रहा था, जिस कारण उसे नोटिस दिया गया था। नोटिस का जवाब ना देकर उसने दबाव बनाने के लिए यह कदम उठाया है।

बता दें कि शाडौरा नगर पंचायत में फायर ब्रिग्रेड की गाड़ी चलाने के लिए संविदा पर संतोष कुशवाहा रखा गया था, मगर फिलहाल वो सीएमओ की गाड़ी चला रहा थ। बुधवार दोपहर cmo राकेश मिश्रा खुद घायल अवस्था में उसे जिला अस्पताल में लेकर गए जहां उसके दोनों पैरों में फैक्चर बताया गया है। संतोष ने सीएमओ पर आरोप लगाया कि वह अपनी गाड़ी मुझसे चलवाते हैं, साथ ही घर के अन्य काम भी उसी से कराते हैं। इसके अलावा उन्हें लगातार प्रताड़ित भी किया जा रहा था। उसका आरोप है कि सीएमओ उसे गालियां देते हैं और कुछ दिन पहले उसे नोटिस दिया गया था। साथ ही सेवा समाप्त करने की धमकी दी जा रही थी। उसका कहना है कि बुधवार को भी घटना के पहले भी उससे गाड़ी की चाबी मांगी और सेवा समाप्त कर देने की बात कही गई, जिस कारण उसने निराश होकर यह कदम उठाया।

इस मुद्दे को लेकर नगर पंचायत शाडौरा के सीएमओ राकेश मिश्रा का कहना है कि कर्मचारी काम में लगातार लापरवाही कर रहा था। अनुशासन बनाए रखने के लिए उसे नोटिस भी दिया था। मगर उसके द्वारा नोटिस का आज तक कोई जवाब नहीं दिया। दबाव बनाने के लिए संतोष कुशवाहा द्वारा यह कदम उठाया गया है। cmo का कहना है कि वह खुद उसे अस्पताल ले कर गये थे। उनका कहना है ड्राइवर के द्वारा लगाये आरोप निराधार एवं असत्य है।