प्रतिष्ठित व्यवसायी ने की पुल से कूदकर आत्महत्या, शव गहरे पानी में फंसा

अशोकनगर,हितेन्द्र बुधौलिया। अशोकनगर शहर के बड़े व्यवसायी एवं ट्रैक्टर शोरूम के मालिक विवेक सेठ ने पिलीघटा गांव की सिंघ नदी के पुल से छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली है। बताया जा रहा है कि वह गुना से अशोकनगर आ रहे थे,अचानक ड्राइवर को बीच पुल पर गाड़ी रोकने की कहा और नदी में छलांग लगा ली,करीब आधा घण्टे बाद ग्रामीण की मदद से घटना स्थल से करीव 300 मीटर दूर रेलवे के पुल के खम्बे में फंसे उनके शव को देखने की बात ग्रामीणों ने पुलिस को बताई है। पानी जायदा होने के लिये शव निकालने के लिये रेस्क्यू टीम को बुलाया गया हैं।
बताया जा रहा है शहर के प्रतिष्ठित सेठ परिवार से ताल्लुक रखने वाले विवेक सेठ कुछ समय से लकवे की बीमारी से पीड़ित थे।

Me Too : राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष ने सोनिया से की चन्नी को हटाने की मांग

करीब 6 बजे के आसपास की यह घटना बताई जा रही है। सेठ के ड्राइवर ने लोगो को बताया कि जैसे ही गाड़ी पुल पर आई तो व्यापारी ने कहा कि गाड़ी पंचर हो गई खड़ी कर ले, ड्राइवर ने कहा भी कि गाड़ी पंचर नही हुई मगर जिद करके गाड़ी रुकवाई, एवं गाड़ी से उतार कर सीधे नदी में छलांग लगा थी। पुल से नदी की गहराई 60-70फीट नीचे गहरे जल में गिरने के बाद प्रत्यक्षदर्शियों ने उन्हें बहते हुये भी देखा। सड़क के पुल से व्यापारी ने छलांग लगाई तो एवं थोड़ी दूर बने रेलवे के खंबे में फंस गये ,घटना के बाद गुना जिले के केंट थाने एवं अशोकनगर जिले के शाडौरा थाने की पुलिस मौके पर पहुच गई। स्थानीय लोगो ने पुलिस को बताया है कि शव दिखाई दे रहा है।पानी का बहाव ज्यादा होने के कारण शव को बरामद नही किया जा सका, शव को निकालने के लिये गोताखोरो की टीम को बुलाया गया है।