नाबालिग का हत्यारा निकला पिता, पत्नी एवं उसके प्रेमी को फंसाने के लिए किया कृत्य

अशोकनगर, हितेन्द्र बुधोलिया। 19 अक्टूबर को शाडौरा थाने की परवई गांव में 13 साल की एक बच्ची की संदिग्ध मौत का मामला सामने आया था, बच्ची के पिता ने अपनी पत्नी एवं उसके प्रेमी पर बेटी को मारने का आरोप लगाया था ।पुलिस को ये मामला प्रथम दृष्टया संदिग्ध प्रतीत हुआ था इस मामले में मृतिका का 9 साल का छोटा भाई प्रत्यक्ष गवाह था।पुलिस ने दो दिन तक बाल कल्याण समिति एवं महिला पुलिसकर्मियों के साथ बच्चे से बातचीत में यह जाना कि उसकी बहिन की हत्या उसकी मां ने नही बल्कि उसके पिता ने की ।पुलिस अधीक्षक रघुवंश सिंह भदौरिया ने पूरी कहानी को बड़ी ही दर्दनाक बताया है।

तिरुपति बालाजी की स्पेशल बुकिंग शुरू, ऐसे करें बुकिंग

बच्चे ने पुलिस को जो कहानी बताइए उसके अनुसार इस सनकी पिता हिम्मत सिंह यादव ने अपनी पत्नी प्रीति एवं उसके प्रेमी राकेश यादव को फंसाने के लिए यह हत्याकांड किया है। प्रत्यक्षदर्शी बालक ने बताया की पिता ने उसकी बहन एवं उसे दोनों में से किसी एक को मारने की बात कही थी। ताकि अपनी पत्नी को फसा सके। बच्चे ने बताया कि उसकी बहन ने कहा कि भाई को छोड़ दो मुझे मार दो, इसके बाद सनकी पिता ने पहले बच्ची को फंदे पर टंगा इसके बाद बच्ची नही मरी तो जमीन पर लिटा कर गला घोंट कर उसकी हत्या कर दी।

शहीद कर्णवीर को सैन्य सम्मान के साथ अंतिम विदाई, सी एम भी पहुंचे अंतिम दर्शन करने

पुलिस को सुनाई झूठी कहानी

रात में अपनी ही बच्ची की जान ले कर यह वहशी इंसान रात भर लाश के साथ ही घर पर रहा, सुबह पुलिस को बताया कि रात में उसकी पत्नी एवं प्रेमी कुंदी खोल कर घर मे आये एवं बेटी को मार कर चले गये।साथ ही आरोपी ने खुद को बेहोश होने की बात भी बताई थी। बच्चे को सच बोलने पर मारने की धमकी दी थी, पुलिस को हिम्मत की कहानी पर शुरू से ही विश्वास नही हो रहा था, दो दिन तक बच्चे के साथ सहानुभूति पूर्ण रवैये के साथ बातचीत करती रही। अचानक अपनी मां द्वारा बहिन को मारने के आरोप को लेकर बच्चे का सब्र टूट गया और उससे पुलिस को सब सच सच बता दिया, कि किस तरह दोनों भाई बहिन में से किसी एक को मार कर अपनी मां को फंसाने की सनक पिता के ऊपर सवार थी। अपनी ही बेटी को मार कर इस दरिंदे बाप ने बेटे को एक झूठी कहानी पुलिस के सामने बताने के लिये कहा एवं सच बोलने पर मार डालने की धमकी दी थी।

Corona का एक और खतरनाक वेरिएंट, रूस में 24 घंटे में हजार लोगों की मौत

पत्नी का प्रेम प्रसंग बना हत्या का कारण

इस पूरे हत्याकांड के पीछे हिम्मत सिंह का उद्देश यह था, कि वह अपनी पत्नी एवं उसके प्रेमी को हत्या के झूठे मामले में फंसाने की कोशिश कर रहा था। इसकी पत्नी जब अपने प्रेमी के साथ घर से भागी तो 16 अक्टूबर को हिम्मत ने शाडोरा थाने में पत्नी के प्रेमी पर मारपीट की शिकायत की थी। मगर पुलिस द्वारा इस मामले में कोई ठोस कार्यवाही नही की तो आरोपी ने दोनों को फंसाने के लिये अपनी बेटी की हत्या कर थी।