कभी सिंधिया के घोर समर्थक रहे ये कांग्रेसी नेता अब उन्हें बता रहे सत्ता लोभी

1696

अशोकनगर/हितेंद्र बुधौलिया

कभी ज्योतिरादित्य सिंधिया (jyotitraditya scindia) के करीबियों में शामिल रहे अशोकनगर शहर के पूर्व ब्लॉक अध्यक्ष गिरीश जैन ने अब सिंधिया के जमकर हमला बोला है। कुछ दिन पहले ही भोपाल में दिग्विजय सिंह (digvijay singh) सहित अन्य नेताओ से मिलकर लौटने के बाद गिरीश जैन ने सिंधिया को गद्दार एवं सत्ता लोभी बताते हुये आगामी चुनावों में जनता द्वारा सबक सिखाने की बात कही है।

करीब दो माह पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया था और इस दौरान 22 विधायक भी उनके साथ चले गए थे। इसी दौर में बड़ी संख्या में सिंधिया समर्थक कांग्रेसी नेता भी भाजपा में शामिल हो गये थे। मगर जो लोग सिंधिया के दल बदलने के बाद भी कांग्रेस से जुड़े रहे थे उनमें गिरीश जैन (girish jain) प्रमुख है। अभी तक शान्त रहे जैन ने अब  भोपाल से वापिस आने के बाद अचानक सिंधिया (scindia) पर हमला बोल दिया है, जिनके वे कभी घोर समर्थक रहे है।

विधानसभा उपचुनाव नजदीक आते ही राजनीति में तेजी से गर्मी मौसम के साथ बढ़ने लगी है। कांग्रेस के पूर्व ब्लॉक अध्यक्ष एवं वरिष्ठ नेता गिरीश जैन ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर ज्योतिरादित्य सिंधिया पर कटाक्ष करते हुऐ कहा कि सिंधिया पद लोभी एवं स्वार्थी है। उन्होने कहा कि कांग्रेस ने सचेतक, केंद्रीय मंत्री सहित बडी जिम्मेदारी दी मगर ज्योतिरादित्य सिंधिया सत्ता के लोभी है। गिरीश जैन ने कहा कि मध्यप्रदेश में कमलनाथ की सरकार अच्छी भली चल रही थी, लेकिन पद की लालसा के चलते सिंधिया ने केंद्रीय सरकार से मिलकर प्रदेश में कमलनाथ सरकार को गिराने का काम किया, साथ ही अपने चहेते विधायकों को भी भाजपा में शामिल कराकर सरकार को गिराया है। इससे स्पष्ट जाहिर होता है कि वो स्वार्थी एवं पद लोभी हैं, लेकिन आगामी विधानसभा में उनकी इस हरकत की वजह से जनता उनके विधायकों को कभी वोट नहीं देगी। उनके मुताबिक सिंधिया द्वारा ऐसा कोई भी कार्य नहीं किया गया जो जनहित में हो, इसलिए लोकसभा चुनाव में जनता ने उन्हें हराकर घर बिठा दिया है। उन्होंने दावा किया कि उपचुनाव में भी भाजपा में शामिल हुए विधायकों को हार का सामना करना पड़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here