urea-distribution-under-police-surveillance-

मुंगावली। अलीम डायर।

नगर में ही नहीं समूचे प्रदेश में यूरिया खाद की किल्लत को देखा जा रहा है जिसके रहते किसानों को खांसी दिक्कत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है गरीब मजदूर किसान सुबह 4: बजे से कढ़ कढाती सर्दी में भूखे प्यासे लाइनों में खड़े होकर 2 बोरी यूरिया खाद मिलने का इंतजार कर रहे हैं। इतनी मशक्कत के साथ इसलिए कर रहा है कि अगर समय पर उसकी फसल को खाद नहीं मिली तो फसल को भारी नुकसान हो सकता है।

कुछ दिनों पहले जिला मुख्यालय में भी किसानों ने खाद ना मिलने  से  चक्का जाम कर अपना विरोध जताया और  कलेक्ट्रेट का घेराव भी किया था। जिस पर अधिकारियों ने किसानों को समझाइश देकर कहा था कि उन्हें खाद मिल जाएगी पर स्थिति में ज्यादा सुधार नहीं आया है। वहीं दूसरी ओर अधिकारियों का कहना है कि यूरिया खाद का खाद्य का स्टॉक कम होने पर प्रत्येक किसान की एक किताब पर 2 बोरी सुनिश्चित कर दी गई हैं लेकिन किसानों का कहना है कि इससे अधिक पुरी खाद चाहिए जिस पर किसान खाद के लिए कुछ भी करने के लिए आतुर है।

भीड़ भाड़ में किसानों की किसी से अभद्रता एवं लड़ाई झगड़ा ना हो और सुचारू रूप से यूरिया खाद वाटी जा सके इसके लिए अधिकारियों ने पुलिस प्रशासन की मदद ली और भारी पुलिस बल की निगरानी में किसानों को यूरिया खाद वितरण किया जा रहा है।