अशोकनगर| जन आक्रोश रैली में शामिल होने के लिए प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज अशोक नगर पहुंचे , उन्होंने तुलसी पार्क में एक जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने शराब माफिया, रेत माफिया, परिवहन एवं ट्रांसफर माफियाओं के  मुद्दों को उठाया। साथ ही मध्य प्रदेश सरकार द्वारा वचन पत्र में दिए गए कामों को न करने के लिए कमलनाथ सरकार को घेरा। शिवराज सिंह चौहान ने स्थानीय स्तर के नेताओं सहित प्रदेशभर के भाजपा नेताओं पर बनाए जा रहे मुकदमों को लेकर भी जनता के बीच अपनी बात रखी।

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मध्य प्रदेश में सरकार द्वारा बीते एक साल में भाजपा कार्यकर्ताओं को चुन-चुन कर निशाना बनाया है। गुना संसदीय क्षेत्र में सांसद के पी यादव, गुना के नगर पालिका अध्यक्ष राजेंद्र सलूजा, अशोकनगर के अशोक पाटनी एवं देवेंद्र ताम्रकार के मामलों का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार माफिया उन्मूलन के नाम पर बीजेपी के कार्यकर्ताओं के खिलाफ दोषपूर्ण कार्य कर रही है। साथ ही उनके साथ बदले की भावना के तहत मुकदमे दर्ज करने  का आरोप लगाया। इन सब मुद्दों को लेकर उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि ,पार्टी सड़कों पर उतर कर आंदोलन करेंगी । 

 इस अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्यप्रदेश सरकार द्वारा शराब की उप दुकान खोलने के फैसले का पुरजोर विरोध किया। उन्होंने कहा कि उनके मुख्यमंत्री  रहते11 साल में एक भी नई शराब दुकान प्रदेश में नहीं खोली थी ।उन्होंने आरोप लगाया कि कमलनाथ सरकार पूरे प्रदेश को मद्य प्रदेश में बनाने पर तुली है बीजेपी इसका विरोध करेगी ।अशोकनगर विधायक जजपाल सिंह जज्जी के  विवादित जाति प्रमाण पत्र के मुद्दे को भी पूर्व मुख्यमंत्री ने मंच से उठाया और शिकायतकर्ता देवेंद्र ताम्रकार पर दर्ज हुए  मामले को लेकर उन्होंने कहा कि इस मामले में  निष्पक्ष जांच की मांग करते हैं।