अस्पताल में युवती का हाईवोल्टेज ड्रामा, बुलानी पड़ी पुलिस

अशोकनगर।हितेन्द्र बुधौलिया। मंगलवार की रात जिला मुख्यालय के ओम कॉलोनी स्थित वन स्टॉप सेंटर से एक विवाहित युवती जैसे ही बाहर निकली तो परिवार के लोगों को देखकर पड़ोस में बने एक निजी अस्पताल में घुस गई और खुद को बाथरूम में बंद कर लिया । इस दौरान लोग उसे बाहर निकालने का प्रयास करते रहे। मगर और युवती घण्टो तक खुद को बाथरूम में बन्द किये रही।किसी तरह महिला पुलिसकर्मीयो ने युवती को बाहर निकाला। पूरा मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा बताया जा रहा है।

कोतवाली थाना प्रभारी पीपी मुद्गल ने बताया कि उत्तर प्रदेश के ललितपुर की एक विवाहित युवती को कुछ दिन पहले कचनार पुलिस ने वन स्टॉप सेंटर में भर्ती कराया था। आज उसके परिवार को सुपुर्द किया जा रहा था उसी दौरान लड़की अपने पिता अपने परिजनों को देखते ही पास में बनी श्यामा मेमोरियल आई हॉस्पिटल में घुस गई और यहां बाथरूम में खुद को बंद कर लिया। युवती ने पुलिस को बताया कि वह बालिग है ,और अपने परिवार के साथ नहीं जाना चाहती। साथ ही लड़की ने बाथरूम से ही महिला सेल को भी फोन लगाया। लड़की के पिता एवं दूसरे परिजन भी इस दौरान मौके पर मौजूद रहे ।

उन्होंने बताया इस लड़की की शादी हो चुकी है एवं कुछ दिनों से किसी दूसरे शादीशुदा लड़के के साथ रह रही थी।परिवार के लोग उसे अपने साथ ले जाना चाह रहे थे मगर लड़की कही और जाना चाहती । परिजनों का कहना है कि युवती अपने प्रेमी के संपर्क में है इसलिय वह घर नही जाना चाहती। काफी मशक्कत के बाद महिला पुलिसकर्मी इसे बाथरूम से निकाल कर थाने ले जा पाई।इसके बाद कागजी खाना पूर्ति के बाद उसे छोड़ दिया गया।