बाबू सिंधी गोदाम छापा: गिरफ्तारी के बाद बाबू सिंधी ने उगले कई राज, पार्टनरों के नाम उजागर

मामले में नारकोटिक्स विंग ने 26 अगस्त को जय कुमार सबनानी उर्फ बाबू सिंधी के गोदाम पर छापामार कार्रवाई की गई थी। तस्कर सबनानी को एनडीपीएस एक्ट के तहत गिरफ्तार किया था।

नीमच, कमलेश सारडा। केंद्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो की टीम ने बड़ी कार्रवाई करते हुए तस्कर जय कुमार सबनानी उर्फ बाबू सिंधी को गिरफ्तार करने के बाद कोर्ट में पेश किया जिसें आरोपी को 4 सिंतबर तक रिमांड पर सौंपा गया है। वहीं जानकारों ने बताया कि रिमांड पर जाते ही बाबू सिंधी ने कई राज उगलने शुरू कर दिये है जिसमें उसके कई करीबी व जमीनों की खरीद फरोख्त करने वाले पार्टनरों के नाम है। खुलासे में सामने आया है कि किस तरीके से ये एक व्यापारी के रूप में अवैध मार्दक पदार्थ की तस्करी किया करता था।

ये भी देखें- MP में बदला मौसम, आकाशीय बिजली गिरने से 3 की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल

100 करोड़ का हिसाब आया सामने

वही जानकारों ने यह तक बताया कि तस्कर बाबू सिंधी ने मार्दक पदार्थ की जमकर तस्करी की जिसमें कुछ मंडी के कारोबारी भी शामिल हैं जिन्होने बाबू सिंधी का जमकर साथ दिया और इस काले कारोबार के जरीए काले धन को इक्कठा किया। इसमें पार्टनर सुबोध, मुकेश और अशीष ने मिलकर करीब 100 करोड़ रूपयें से अधिक की जमीनें खरीदीं, जिसका हिसाब भी सामने आया है। वहीं तस्कर बाबू सिंधी के पार्टनर सूबोद, मुकेश और आशीष की मुश्किले भी बढ़ गई है क्योंकि इन्होंने भी तस्कर बाबू सिंधी के काले कारोबार में अपने हाथ भी जमकर काले किये। जिसका कारण है कि इतने कम समय में इन्होने मिलकर शहर की जमीनों के भाव आसमान पर ला दियए। ऐसे में इनके खिलाफ व शहर की कई बड़ी इमारतों पर सफेमा की कार्रवाई आस-पास मंडरा रही है।

पुलिस स्लीपर सेल के नाम हुए उजागर

कुख्यात तस्कर बाबू सिंधी ने अपने इस काले कारोबार को जमाने के लिये कई विभागों में स्लीपर सेल के रूप में कई कर्मचारी व अधिकारीयों को खरीद रखा था जो बाबू सिंधी के लिये खुफिया जानकारी इक्कठी करने का काम करते थे। खासकर अगर बात की जाये तो पुलिस विभाग में तस्कर बाबू सिंधी ने स्लीपर सेल के रूप में पुलिसकर्मीयों को सेट कर रखा था जो महीने की बंदी के तौर पर इसके लिये काम करते थे। जिसका ही कारण रहा कि पुलिस का हाथ इसके गले तक नही पहुंच पाया क्योंकि जब भी कोई इसका काम बिगड़ता तो ये अपने स्लीपर सेल की खुफिया जानकारी के जरीए ठीक कर लेता था। ऐसे में अब जानकारों ने बताया कि बाबू सिंधी ने तोते की तरह कई लोगो के नाम भी उजागर किये हैं।

ये भी देखें- जन्माष्टमी पर महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष ने पूर्व सीएम के संकल्प को याद कर छेड़ी ये तान

गौरतलब है कि नारकोटिक्स विंग ने 26 अगस्त को जय कुमार सबनानी उर्फ बाबू सिंधी के गोदाम पर छापामार कार्रवाई की गई थी। तस्कर सबनानी को एनडीपीएस एक्ट के तहत गिरफ्तार किया था। शुक्रवार को उसके घर व प्रतिष्ठान सहित अन्य स्थानों पर दबिश देकर मादक पदार्थ जब्त किया गया था। शनिवार को नारकोटिक्स विभाग ने तस्कर बाबू को मेडिकल कराकर कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे 4 सितंबर तक की रिमांड पर सौंपा गया है। रिमांड अवधि में तस्कर बाबू से पूछताछ की जाएगी।