बड़वाह , बाबूलाल सारंग। नगर से 3 किमी दूर ग्राम पंचायत नावघाट खेड़ी स्थित ग्राम डेहरिया मार्ग स्थित ओम्कारेश्वर परियोजना (Omkareshwar Project) नहर किनारे बने पुलिया के पास पेड़ में अटकी युवती का शव सोमवार को बड़वाह पुलिस को मिला। थाना प्रभारी संजय दिवेदी ने एफएसएल प्रभारी डॉ.सुनील मकवाने को मौके स्थल पर बुलाकर जाँच करने के बाद शव को बड़वाह सिविल अस्पताल पहुंचाया गया। जहां पर चिकित्सक डॉ.नबील अहमद और डॉ.प्रियंका वास्कले ने उसका पोस्टमॉर्टम (Postmortem) किया।

यह भी पढ़ें…Bhind News: भिंड के दो कावंडियों की गंगा में डूबने से मौत, जल भरने के दौरान हुआ हादसा

सोशल मीडिया पर वायरल हुई युवती कि पहचान

थाना प्रभारी संजय द्विवेदी ने बताया कि युवती की शिनाख्त के लिए फोटो अन्य क्षेत्रों के पुलिस थानों पर भेजी थी। साथ ही सोशल मीडिया (social media) पर चली खबरों से युवती की पहचान हुई। युवती के परिजनों ने हाथ की रिंग और गले की चैन से शव की पहचान की। मृतिका की पहचान खंडवा निवासी रानी गढ़वाल (30) के रूप में हुई। युवती इंदौर में एक फायनेंस कंपनी में जॉब करती थी। तीन दिन पहले युवती ने काम से छूट्टी ली थी। जिसके बाद से ही उसका मोबाइल बंद आ रहा था। युवती की पहचान होने के बाद परिजन भी सिविल अस्पताल पहुंचे। जहां दो डॉक्टरों की पैनल ने शव का पीएम कर परिजनों को सौंप दिया। वही मृतक युवती की बहन गायत्री गढ़वाल ने बताया कि रानी तीन साल से इंदौर की आरबीएल प्रायवेट बैंक में जॉब करती थी। इसके पहले सात साल खंडवा में बैंक में जॉब करती थी। वह इंदौर स्थित बंगाली चौराहे पर रहती थी। इंदौर में वह अपनी सहेली के साथ रहती थी। लेकिन उसे भी कोई जानकारी नहीं है। गायत्री गढ़वाल ने बताया कि उसके पास दो मोबाइल थे। लेकिन पुलिस को मौके से एक भी मोबाइल बरामद नहीं हुआ। सोमवार को बैंक के ब्रांच मैनेजर का फोन आया और वह रानी के बारे में पूछने लगा रानी के माता-पिता का निधन हो चुका है। उसकी बहन और भाई है।

Badwah News : पेड़ पर लटका मिला युवती का शव, हत्या की आशंका

आखिरी बार शुक्रवार रात में हुई थी बात

रानी के उपर ही अपने परिवार की जिम्मेदारी थी। दो महीने पहले ही उसने नई गाड़ी ली थी। बहन गायत्री ने बताया कि सोमवार को घर आई थी, मंगलवार को वापस चली गई। शुक्रवार को दोबारा उसने ऑफिस से छूट्टी ली। तब रात में बात हुई थी, लेकिन सुबह मोबाइल बंद हो गया। इसके बाद रविवार रात करीब 8 बजे घर के नंबर से कॉल किया तो फोन नहीं उठाया, दूसरे नंबर से कॉल किया, लेकिन किसी ने फोन उठाया, तो ऐसी आवाज आई जैसे कोई गाड़ी में चल रहा हो। रानी का हफ्ते या महीने में घर आना-जाना लगा रहता था। थाना प्रभारी संजय दिवेदी ने बताया कि परिवारजनों कि तरफ से धारा 302 का मुकदमा दर्ज कर मामले कि बारीकी से जाच कि जा रही है। मंगलवार को रानी गढ़वाल के मोबाईल पर किन-किन व्यक्तियों के द्वारा बात कि गई उनकी काल डिटेल्स निकाली जा रही है साथ ही पुलिस द्वारा उनसे पूछताछ कि जाएगी।

यह भी पढ़ें…Bhopal News: कोरोना विस्फोट के बाद भोपाल कलेक्टर का बड़ा बयान, डेंगू-मलेरिया का भी सर्वे जारी