बालाघाट जेल से 100 कैदी भेजे जा रहे सेंट्रल जेल,उपजेल से भेजे जायेंगे 50 कैदी

बालाघाट/सुनील कोरे

जेल महानिदेशक संजय चौधरी के निर्देश पर जिला जेल और उपजेलो में बंद कैदियों को सेंट्रल जेल भेजे जाने का निर्देश के बाद बालाघाट जिला जेल से 100 और वारासिवनी उपजेल से 50 कैदी, जिले की जेलों से बाहर जायेंगे। जहां बालाघाट जिला जेल के कैदी जबलपुर सेंट्रल जेल जायेंगे, तो वारासिवनी उपजेल के 50 कैदी सब जेल पाटन और सब जेल सिहोरा में जायेंगे। इसकी शुरूआत भी हो गई है, बालाघाट पुलिस प्रशासन के सहयोग से जिला जेल प्रबंधन द्वारा जिला जेल से अब तक 40 कैदियो को जबलपुर सेंट्रल जेल रेफर भी कर दिया गया है। अब केवल बालाघाट जिला जेल से 60 कैदियों को स्थानांतरित किया जाना है बालाघाट से जबलपुर मेडिकल कॉलेज और अन्य मामले के कैदी जबलपुर सेंट्रल जेल जाते रहे लेकिन पहली बार निर्देश के तहत इतनी बड़ी संख्या में कैदी बालाघाट जेल और वारासिवनी उपजेल से स्थानांतरित किये जा रहे है।

जानकारी अनुसार जेल मुख्यालय महानिदेश के निर्देश पर बालाघाट जिला जेल और वारासिवनी उपजेल से उन्ही कैदियों को स्थानांतरित किया जा रहा है, जिन पर छोटी धाराओं के तहत अपराध दर्ज या फिर वह छूटने वाले है, चूंकि अब आरोपियों की न्यायालय पेशी भी ऑनलाइन हो गई है, जिससे बालाघाट जेल और वारासिवनी उपजेल से स्थानांतरित कैदियो को बार-बार पेशी में आने की कोई समस्या भी नहीं है, क्योंकि अब सब ऑनलाइन होने से कैदी सेंट्रल जेल से वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से न्यायालय में पेश हो जायेंगे। जिससे कैदियों को स्थानांतरित करने से कोई व्यवहारिक परेशानी भी नहीं है।

जबलपुर सेंट्रल जेल और पाटन एवं सिहोरा जेल में रहेंगे जिले के कैदी
जेल महानिदेशक के निर्देश के अनुसार बालाघाट जेले से 100 कैदियों को जबलपुर सेंट्रल जेल स्थानांतरित किया जायेगा। जबकि वारासिवनी उपजेल से 50 कैदियों को अलग-अलग स्थानांतरित किया जायेगा। जिसमें 25 कैदी सब जेल पाटन और 25 कैदी सब जेल सिहोरा स्थानांतरित किये जायेंगे।

जेल प्रबंधन ने कैदियों को बालाघाट पुलिस की मदद से भेजना प्रारंभ किया
जेल महानिदेशक के आदेश के बाद बालाघाट जेल प्रबंधन द्वारा बालाघाट पुलिस के सहयोग से कैदियों को भेजना प्रारंभ कर दिया गया है। जेल प्रबंधन से मिली जानकारी अनुसार बालाघाट पुलिस के सहयोग से 20-20 कैदियों को जबलपुर सेंट्रल जेल स्थानांतरित किया जा रहा है। जिसमें लगातार दो दिनों से कैदियों को भेजे जाने की शुरूआत के चलते अब तक 40 कैदी, सुरक्षात्मक तरीके से जबलपुर सेंट्रल जेल भेजे जा चुके है और यह प्रक्रिया निरंतर जारी है।

जेल में क्षमता से ज्यादा कैदी
बालाघाट जिले में सुरक्षात्मक और व्यवस्था के तहत 170 कैदियों की क्षमता है लेकिन वर्तमान में 425 बंदी है, जिससे जिला जेल की क्षमता अनुसार लगभग 150 प्रतिशत ज्यादा कैदी बालाघाट जेल में बंद है। ऐसी स्थिति में जेल में कैदियों को रखे जाने को लेकर अब तक जेल प्रबंधन ने सुरक्षात्मक और व्यवस्थित रूप से कैदियों को रखा है, लेकिन जेल महानिदेशक के आदेशानुसार 100 कैदियों को जबलपुर सेंट्रल जेल स्थानांतरित किये जाने से बालाघाट जेल में कैदियों का भार कम होगा।

इनका कहना है
जेल मुख्यालय के जेल महानिदेश के आदेशानुसार जिला जेल से 100 कैदियों और वारासिवनी उपजेल से 50 कैदियों को जबलपुर सेंट्रल जेल और सब जेल पाटन एवं सिहोरा स्थानांतरित किया जा रहा है। जिन आरोपियों के खिलाफ छोटी धाराओं के तहत मामले दर्ज है या फिर वह कैदी जो जल्द छुटने वाले है, उन्हें ही बालाघाट पुलिस के सहयोग से स्थानांतरित किया जा रहा है। अब तक 40 कैदी जबलपुर सेंट्रल जेल स्थानांतरित कर दिये गये है। यजुर्वेन्द्र बाघमारे, जेल अधीक्षक