बालाघाट में कोरोना से दूसरी मौत, घर सील, 18 नए पॉजिटिव मिले

Corona

बालाघाट, सुनील कोरे| बालाघाट जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों के साथ-साथ कोरोना से मौत के मामले में भी बढ़ते जा रहे है। जिसके बाद लोगों में बीमारी को लेकर चिंता और भय होने लगा है। बीते शनिवार की रात कोविड हॉस्पिटल से गंभीर हालत में मेडिकल कॉलेज छिंदवाड़ा ले जाते समय बालाघाट निवासी 52 वर्षीय व्यक्ति की मेडिकल पहुंचने से पहले ही मौत हो गई। जिसको मिलाकर जिले के कोरोना रिकॉर्ड में अब तक दो व्यक्तियो की मौत हुई है, जबकि 5 सितंबर को ही जिले के एक और कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति की मौत मेडिकल कॉलेज छिंदवाड़ा में हो गई।

जो गढ़ी में कार्यरत थे। जिन्हें कुछ दिनों पूर्व कोरोना पॉजिटिव आने के बाद उपचारार्थ कोविड हॉस्पिटल बालाघाट में भर्ती कराया गया था। जहां से बीते दिवस उनकी हालत गंभीर होने पर उन्हें मेडिकल कॉलेज छिंदवाड़ा भेजा गया था। हालांकि जिला स्वास्थ्य विभाग ने इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं की है, लेकिन विभागीय कर्मचारी से इस बात की पुष्टि हुई है कि उनकी मौत छिंदवाड़ा मेडिकल कॉलेज में हुई है। इससे पूर्व कटंगी निवासी की कोरोना से पहली मौत हुई थी। जबकि ऐसे तीन और जिले के लोग है, जिनकी कोरोना से किसी अन्य जगह मौत हुई है, जो जिले के कोरोना रिकॉर्ड मंे दर्ज नहीं है। बीते दिवस रायपुर में बालाघाट नगर के एक व्यवसायी की मौत हो गई। इससे पूर्व नागपुर में उपयंत्री और स्टेशनरी व्यापारी की कोरोना से मौत हो चुकी है। इस तरह अब तक जिले के आधा दर्ज लोगों की कोरोना पॉजिटिव होने से मौत हो गई है।

बताया जाता है कि बीती रात्रि बालाघाट मुख्यालय निवासी जिस 52 वर्षीय व्यक्ति की छिंदवाड़ा मेडिकल कॉलेज ले जाते समय मौत हुई है, उसकी हालत बालाघाट में ही गंभीर थी। जिसको ईलाज को लेकर भी लापरवाही की बात सामने आई है। सूत्रों की मानें तो व्यक्ति को 5 सितंबर को कोविड हॉस्पिटल में पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद भर्ती किया गया था। जबकि यह मरीज 4 सितंबर को भी फीवर क्लिनिक में जांच कराने पहुंचा था। हालांकि कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत के बाद अब स्वास्थ्य विभाग मरीज को अन्य बीमारी होने की बात कह रहा है। मरीज की मौत के बाद प्रेस से चर्चा करते हुए सीएचएमओ श्री पंडया ने बताया कि मरीज को पूर्व से ही शुगर, ब्लड प्रेशर की बीमारी थी और जब उसे भर्ती किया गया तो उसका ऑक्सीजन लेवल भी कम था। बहरहाल जिले में कोरोनो पॉजिटिव मरीजों की मौत ने लोगों को भयभीत कर दिया है। बावजूद इसके जिले में बढ़ती बीमारी को लेकर जागरूकता दिखाई नहीं दे रही है, लोग मॉस्क का उपयोग कम और सोशल डिस्टेसिंग को भुलते नजर आ रहे है। जबकि बीमारी से प्रारंभिक बचाव के लिए यह उपाय कारगर है।

एक ही दिन में मिले 18 मरीज
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मनोज पांडे से प्राप्त जानकारी के अनुसार 5 सितंबर को आईसीएमआर जबलपुर से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार बालाघाट जिले के 18 मरीजों के सैंपल कोरोना पॉजिटिव पाये गये है। इनमें 11 मरीज बालाघाट तहसील के ग्राम लिंगा के है। जो पूर्व में कोरोना पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आए थे। इन 11 मरीजों में 5 महिलाएं और 6 पुरुष शामिल है। 3 मरीज किरनापुर तहसील के ग्राम रटापायली के हैं। जिसमें 17 वर्ष का युवक एवं 49 वर्षीय पुरुष है जो हैदराबाद से वापस आया था और 45 वर्षीय एक महिला है जो नागपुर से आई थी। एक मरीज किरनापुर तहसील के ग्राम रजेगांव का 54 वर्षीय पुरुष है जो नागपुर से वापस आया था। एक मरीज बिरसा तहसील के ग्राम बंजारी टोला का 49 वर्षीय पुरुष है जो रायपुर से आया था। एक मरीज किरनापुर तहसील के ग्राम ककोड़ी का 25 वर्षीय युवक है जो पूर्व में कोरोना पॉजिटिव आये मरीज के संपर्क में आया था। एक मरीज वार्ड नंबर 15 वारासिवनी की 5 वर्षीय बालिका है जो पूर्व में कोरोना पॉजिटिव आये मरीज के संपर्क में आई थी।

डॉक्टर पांडेय ने बताया कि एक मरीज की 5 सितंबर की शाम को छिंदवाड़ा ले जाते समय मृत्यु हो गई है। इस मरीज को उपचार के लिए बालाघाट से मेडिकल कॉलेज छिंदवाड़ा रेफर किया गया था लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही मरीज की मृत्यु हो गई है। इस प्रकार बालाघाट जिले में अब तक कुल 366 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए गए है। इसमें से 281 मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं 79 मरीजों का उपचार कोविड अस्पताल बूढ़ी बालाघाट में किया जा रहा है 4 मरीजों को उपचार के लिए मेडिकल कॉलेज छिंदवाड़ा रेफर किया गया है और दो मरीज की मृत्यु हो गई है।

कोरोना पॉजिटिव की मौत के बाद घर सील, परिजन क्वारेंटाईन
मिली जानकारी अनुसार बालाघाट के जिस कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत मेडिकल कॉलेज ले जाते समय हुई है, उसके नगरीय क्षेत्र के वार्ड क्रमांक 28 में स्थित मकान को प्रशासनिक निर्देश के बाद सील कर दिया है, वहीं परिजनो को क्वारेंटाईन कर दिया है। इसी तरह बैहर रोड में व्यवसायी की रायपुर में मौत के बाद उसके घर को भी सील कर दिया गया है। सील की कार्यवाही प्रशासनिक निर्देश के बाद नपा अमले द्वारा की गई। वहीं भटेरा में एक व्यक्ति के घर को सील किये जाने की जानकारी सामने आई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here