बालाघाट में दो स्थानों से 11 क्विंटल पीडीएस चावल बरामद, 8 राशन कार्ड निरस्त

बालाघाट/सुनील कोरे

बालाघाट में बुधवार को शहर के दो स्थानों से प्रशासनिक अमले ने पीडीएस का लगभग 11 क्विंटल अनाज बरामद किया है। पहली  कार्रवाई शहर के बैहर चौकी स्थित रेलवे क्रॉसिंग के पास की गई, जहां राजू किराना दुकान संचालक राजू छाबड़ा द्वारा वर्तमान समय में गरीबों को राशन दुकान से दिये जाने वाले चावल को खरीदने की सूचना के बाद प्रशासनिक अमले ने उसकी दुकान को सील कर दिया गया है। यहां से प्रशासनिक अमले ने लगभग डेढ़ बोरी पीडीएस का चावल बरामद किया है। प्रशासनिक अमले ने पंचनामा तैयार कर प्रकरण बनाया गया है, जो कलेक्टर न्यायालय में पेश किया जायेगा।

बुधवार शाम को ही प्रशासन की छापामार कार्यवाही में नवेगांव थाने के प्रभारी प्रशिक्षु डीएसपी ललित कुमार कश्यप द्वारा शराब के अवैध विक्रय की सूचना मिलने पर वार्ड नंबर 15 कोसमी में प्रकाश पिता गरीब लाल दमाहे के घर पर आज छापामार कार्रवाई की गई। इस दौरान वहां पर शराब तो नहीं पाई गई लेकिन डीएसपी की नजर घर पर रखे अनाज के बोरों पर पड़ी तो उन्हें शक हुआ कि यह अनाज शासकीय योजनाओं में सप्लाई किया जाने वाला अनाज तो नहीं है। इसके बाद कलेक्टर दीपक आर्य एवं पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी अधिकारियों के दल के साथ कोसमी में प्रकाश दमाहे के घर पहुंचे तो जांच में पाया कि वहां पर सार्वजनिक उचित मूल्य दुकानों में राशन कार्ड धारी हितग्राहियों को विक्रय किया जाने वाला अनाज एकत्रित किया गया है। प्रकाश धमाहे से पूछताछ करने पर पता चला कि उसके द्वारा 8 हितग्राहियों से यह अनाज खरीदा गया है। इन राशन कार्ड धारक हितग्राहियों में धरम मेश्राम, समद खान नंदकिशोर लिल्हारे देवीलाल लिल्हारे, लालजी लिल्हारे, महेश मेश्राम भैयालाल बम्होरे एवं रोशन लाल नागपुरे शामिल हैं. इन हितग्राहियों द्वारा राशन दुकान से 3 माह का खाद्यान्न लेने के बाद उसे प्रकाश दमाहे को बेचा गया है।

कलेक्टर ने जप्त किए गए अनाज को कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए बनाए गए खाद्यान्न बैंक में जमा करने के निर्देश दिए है। इसके साथ ही अपने राशन कार्ड का अनाज विक्रय करने वाले 8 हितग्राहियों के राशन कार्ड निरस्त करने के निर्देश भी दिये हैं। इसके साथ ही शासकीय अनाज की कालाबाजारी करने वाले प्रकाश दमाहे के विरुद्ध आपराधिक प्रकरण भी दर्ज किया जा रहा है।