बालाघाट और मंडला जिले के 51 पुलिस जवानों को मिला आउट ऑफ टर्न प्रमोशन

बालाघाट, सुनील कोरे। पुलिस जवानों के अदम्य साहस एवं शौर्य से देश की आंतरिक सुरक्षा सुदृढ़ हैं। हमारे पुलिस जवान जान हथेली में रखकर हमारी आंतरिक सुरक्षा का जिम्मा संभालते हैं। इन वीरों के होते हुए दुनिया की कोई भी ताकत हमारे देश-प्रदेश के तरफ आंख उठा कर नही देख सकता यह बात बालाघाट (Balaghat) पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ( Shivraj Singh Chouhan) ने पुलिस जवानों के आउट ऑफ टर्न प्रमोशन (out of turn promotion) अलंकरण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही।

यह भी पढ़ें…Morena : शीतल फैक्ट्री में सुरक्षा गार्डों से मारपीट करने वाले चार आरोपी बंदूक सहित गिरफ्तार

पुलिस लाइन मैदान में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री चौहान द्वारा नक्सल दमन गतिविधियों में अदम्य साहस का प्रदर्शन करने वाले बालाघाट जिलें के 24 तथा मंडला जिलें के 27 पुलिस अधिकारी एवं जवानों के कंधो में सितारे एवं बाहों में फीता लगाकर आउट ऑफ द टर्न प्रमोशन देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा एवं पर्यावरण मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री हरदीप सिंह डंग, जलसंसाधन एवं आयुष राज्य मंत्री रामकिशोर कांवरे, सांसद डॉ. ढालसिंह बिसेन, खनिज निगम अध्यक्ष प्रदीप जायसवाल, पूर्व मंत्री एवं विधायक गौरीशंकर बिसेन, जिला पंचायत अध्यक्ष रेखा बिसेन, पूर्व विधायक रमेश भटेरे, पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी, अतिरिक्त महानिदेशक गुप्तवार्ता आदर्श कटियार, एडीजी मकरन्द देऊस्कर, संभागायुक्त बी. चंद्रशेखर, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक के.पी. व्यंकेटश्वर राव, उपमहानिदेशक अनुराग शर्मा, कलेक्टर दीपक आर्य, पुलिस अधीक्षक अभिषेक शर्मा सहित अन्य जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारी-कर्मचारियों की उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि देश सुरक्षा के लिए पुलिस जवान अपने घरों से दूर रहकर अपने कर्तव्यो का निर्वहन करते हैं, जब हम सब होली, दिवाली, ईद मनाते हैं तब भी ये वीर सपूत सजग रहकर हमारी सुरक्षा करते हैं। इन विपरित परिस्थितियों में राष्ट्र सुरक्षा के लिए अपना सब कुछ निछावर करने वाले जवानों पर प्रदेश की जनता को गर्व हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में नक्सल दमन गतिविधियों में हमारे जवानों में अभूतपूर्व साहस का प्रदर्शन करते हुए आंतरिक सुरक्षा में सेंध लगाने वाले नक्सलियों के दांत खट्टे कर दिए हैं, नक्सलवाद को कोने में समेट के रख दिया हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने आउट ऑफ टर्न प्रमोशन प्राप्त कर रहे पुलिस जवानों के साथ ही सभी का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि आपको दिया जा रहा आउट ऑफ टर्न प्रमोशन का सम्मान आपकी वीरता का ही प्रतिफल हैं। सभी सतत रूप से प्रदेश की आंतरिक सुरक्षा को बनाये रखने की दिशा में कार्य करें, जवानों की सुरक्षा व्‍यवस्‍था एवं सुविधाओं को जुटाने में शासन स्तर से कोई भी कमी नही आने दी जायेगी।

इनका किया गया आऊट आफ टर्म प्रमोशन

मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बालाघाट जिले के बोरबन जंगल में 14-14 लाख रूपये के दो इनामी खतरनाक नक्‍सली को मार गिराने में अपनी महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाने वाले पुलिस अधिकारी, कर्मचारी क्रमशः रामपदम शर्मा, सहायक उप निरीक्षक(विसबल) को उप निरीक्षक, गंगाराम परस्‍ते, आशीष कुमार, भीकम सिंह, लक्ष्मीकांत शुक्‍ला, भैरूलाल गामड़ को प्रधान आरक्षक से सहायक उप निरीक्षक (विसबल) में प्रमोशन दिया गया। इसी प्रकार रॉकी पालीवाल, विनोद मौर्य, भजनलाल कुलस्‍ते, अखिलेश उईके, ब्रजेश सिंह, रामकुमार नवरेती, योगेन्‍द्र सिंह, शीतल प्रसाद साहू, जितेन्‍द्र राहंगडाले, संतोष कुमार जायसवाल, दिलीप उईेके, खेमसिंह, राकेश मर्सकोले, विकाससिंह चौहान, नागेन्‍द्र प्रसाद यादव, पारस राहंगडाले, हितेश वाडिवे को आरक्षक से प्रधान आरक्षक तथा नीरज तिवारी को आरक्षक जिला बल से प्रधान आरक्षक जिला बल में प्रमोशन दिया गया।

इसी तरह मण्‍डला जिले के लालपुर जंगलों में 8-8 लाख रूपये के इनामी नक्‍सलियों को मार गिराने में पुलिस अधिकारी, कर्मचारी क्रमशरू अंशुमानसिंह चौहान(विसबल) को उप निरीक्षक से निरीक्षक, सुशील पटैल को उप निरीक्षक से निरीक्षक, अजय सिंह चौहान, अनूप नेताम, मंगरू उईके, बैसाखूलाल, नरेश कुमार उईके को प्रधान आरक्षक से सहायक उप निरीक्षक (विसबल), कमलेश सरोते, शिवचरण उईके, संदीप सिंह, लोकेन्‍द्र सिंह, राजकुमार उईके, रामलखन प्रजापति, भगत सिंह मरावी, अतुल शुक्‍ला, रूपेन्‍द्र सिंह, बलदेव धुर्वे, रामगोपाल पन्‍द्रे, कैलाश सिंह धुर्वे, मनोज कुमार, दवल सिंह धुर्वे, वरूण तिवारी, अशनीज कुमार, नरेन्‍द्र कौशिक, अनूप सिंह, मुन्‍ना कुमार, रामजी यादव को आरक्षक से प्रधान आरक्षक में प्रमोशन किया गया।

बालाघाट और मंडला जिले के 51 पुलिस जवानों को मिला आउट ऑफ टर्न प्रमोशन

जिले के विकास एवं नक्सल उन्मूलन पर अधिकारियों से की चर्चा
जिले के विकास एवं नक्सली गतिविधियों पर रोक लगाने के लिए जिले के विकासखंडों के लिए अलग-अलग कार्य योजना तैयार की जाये। जिससे जिले में विकास कार्यों को गति मिलने के साथ ही स्थानीय युवाओं को रोजगार के अवसर सुलभ हो सके। यह निर्देश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों की बैठक में दिये।

मुख्यमंत्री चौहान ने बैठक में कहा कि नक्सल गतिविधियों पर रोक लगाने में पुलिस के जवानों ने अच्छा काम किया है। जिले में पुलिस एवं अन्य विभागों में विशेष भर्ती के लिए विचार किया जा रहा है। नक्सल उन्मूलन में जान की बाजी लगाने लगाने वाले जवानों को आउट आफ टर्म पदोन्नति दी जा रही है। बालाघाट जिले के नक्सल प्रभावित एवं सामान्य विकासखंडों के लिए विकास कार्यों की अलग-अलग कार्ययोजना बनाई जाये। जिससे नक्सल प्रभावित विकासखंडों के ग्रामों में सड़क संपर्क, सिंचाई एवं रोजगार पर विशेष ध्यान दिया जाये। वन अधिकार के पट्टे पात्र लोगों को प्राथमिकता से दिये जायें। प्रदेश सरकार बालाघाट जिले के विकास कार्यो के लिए राशि की कमी नहीं देगी।

यह भी पढ़ें…MP News: शासकीय कर्मचारियों के लिए सरकार का बड़ा फैसला, आदेश जारी