कमलनाथ सरकार गिराने के सौ दिन पूरे होने पर कांग्रेस ने काली पट्टी बांधकर मनाया काला दिवस

79

बालाघाट। सुनील कोरे| प्रदेश में काबिज कांग्रेस सरकार को गिराने के आज 30 जून को 100 दिन पूरे होने पर कांग्रेस ने काला दिवस मनाया। कांग्रेस सरकार गिराने के विरोध में कांग्रेस के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं ने काली पट्टी बांधकर बालाघाट मुख्यालय के हनुमान चौक पर विरोध प्रदर्शन किया और बीजेपी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कांग्रेस वक्ताओं ने कहा कि भाजपा ने कूटनीति एवं अनैतिक तरीके से कांग्रेस की सरकार गिराकर लोकतंत्र की हत्या की है। जिसके आज 100 दिन पूरे होने पर आज सभी कार्यकर्ताओं ने काली पट्टी बांधकर विरोध प्रदर्शन किया है। कांग्रेस वक्ताओं ने कहा कि इन 100 दिनों में जनता ने काफी परेशानियों का सामना किया। बढ़ते पेट्रोलियम पदार्थ के दाम, भ्रष्टाचार, माफियाराज, बिजली के बढ़ते दामों से आम जन परेशान है। इस दौरान जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष विश्वेश्वर भगत, प्रदेश सचिव अनूपसिंह बैस, भीम फुलसुंघे, वरिष्ठ कांग्रेसी रहीम खान, जुगल शर्मा, एआईसी पूर्व सदस्य श्रीमती पुष्पा बिसेन, वरिष्ठ कांग्रेसी राधेलाल कसार, कैलाश साहु, अशोकसिंह बैस, शहर अध्यक्ष श्याम पंजवानी, झुग्गी झोपड़ी प्रकोष्ठ अध्यक्ष मकसूद खान, चीनु राव, नरेन्द्र मेश्राम, पार्षद प्रतिनिधि अनिल कसार, पार्षद रामभाऊ पंचेश्वर, निर्मल कल्लु सोनी, छबिराम नागेश्वर, जीतु राजपूत, शमीम सिद्ीकी, शब्बीर पटेल, प्रवीण मदनकर, शेख अंसार, सहित अन्य कांग्रेसी मौजूद थे।
इस अवसर पर सभा को संबोधित करते हुए कहा कि जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष विश्वेश्वर भगत ने कहा कि सरकार गिराने के पीछे भाजपा की साजिश थी। खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सांवेर में पार्टी के कार्यकर्ता सम्मेलन में ये बात स्वीकार कर चुके हैं। भाजपा इसे अपनी उपलब्धि गिनाने में लगी है। हमने इसे लोकतंत्र की हत्या का काला दिवस मनाने का निर्णय लिया है। देश की मोदी सरकार और प्रदेश की शिवराज सरकार ने तानाशाही पूर्वक जनता को महंगाई की आग में झोंक दिया है। देश में कोरोना संक्रमण के दौरान में हर रोज महंगाई बढ़ती जा रही है और मोदी सरकार सच बोलने और विरोध करने वालों को देश विरोधी बता रहे है। कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाए कि पूर्व सरकार के किसान कर्ज माफी से लेकर दूसरे फैसलों में मौजूदा सरकार अड़ंगा लगा रही है। प्रदेश और देश की सरकार जनविरोधी है। भाजपा के झूठे कारनामो को जनता समझने लगी हैं यही कारण है की भाजपा अपनी नाकामी छिपाने के लिए कमलनाथ की लोकप्रियता से भयभीत हो कर कमलनाथ का पुतला जला कर महंगाई, बेरोजगारी, आर्थिक दीवालियापन, अराजकता, भ्रष्टाचार जैसी गंभीर समस्याओ से बचने का प्रयास कर रही है।
अध्यक्ष श्री भगत ने कहा कि जिस कोरोना की चिंता, केन्द्र की मोदी सरकार को जनवरी में करनी थी, उस कोरोना बीमारी के फैलने के बावजूद प्रदेश की सरकार को गिराने में लगी मोदी सरकार ने प्रदेश में जनता द्वारा निर्वाचित कांग्रेस की सरकार को गिराने के बाद लॉक डाउन का ऐलान किया। जिससे देश में कोरोना तेजी से फैला। जिससे व्यापार प्रभावित हुआ है बल्कि मजदूरों को भी आर्थिक खर्च उठाकर बीमारी से बचने के लिए घर की ओर लौटना पड़ा। भाजपा ने प्रजातंत्र का गला घोंटकर जनकल्याणकारी और जनहितैषी कांग्रेस की सरकार को हटाने का जो पाप किया है, उसका भुगतमान भाजपा को भुगतान पड़ेगा। उन्हांेने कहा कि कांग्रेस सरकार में जिन माफियाओं पर लगाम लगी थी, वही माफिया आज सिर उंचा कर प्रदेश को खोखला करने में लगे है जिन्हें प्रदेश की भाजपा सरकार संरक्षण देने का काम कर रही है। प्रदेश की कांग्रेस सरकार को गिराने वाली प्रदेश की भाजपा सरकार का चाल, चरित्र, प्रदेश की जनता अब समझने लगी है।
कांग्रेस वक्ताओं ने भाजपा की शिवराज सरकार पर कोरोना को रोकने में नाकाम सरकार बताते हुए कहा कि इस वक्त गरीबो और किसानों के प्रति सरकार का बर्ताव बुरा है। प्रदेश की कमलनाथ सरकार के वक्त बिजली के बिल जहां 100 रुपए आते थे वही अब बिल 3 से 4 हजार रुपए आ रहे है। इधर, पेट्रोल- डीजल की मूल्यवृद्धि के दौरान मध्यप्रदेश में सबसे ज्यादा इन पर टैक्स वसूला जा रहा है। आम आदमी भाजपा सरकार से त्रस्त हो चुका है और आगामी उपचुनाव में बढ़ती महंगाई और नाकाम सरकार को जनता जबाव देगी। कांग्रेस वक्ताओं ने कहा कि जिस तरह भाजपा ने कांग्रेस की जनादेश वाली सरकार को गिरा कर भाजपा की सरकार बनाई है वह लोकतंत्र की हत्या है। भाजपा सरकार के इन 100 दिनों में प्रदेश की जनता बहुत परेशान हुई है हर जगह महंगाई का बोल बाला है। पेट्रोल डीजल महंगा है बिजली बिलो के दाम बढ़ रहे है। मंहगाई ने आम आदमी की कमर तोड़ दी है, प्रदेश का विकास ठप पड़ गया है भ्रष्टाचार बढ़ गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here