शादी के तीन दिन पहले ससुराल पहुंच कर मांगा दहेज़, दूल्हा और पिता समेत तीन गिरफ्तार

शादी के एवज में दहेज में दोपहिया पल्सर वाहन, 5 तोला सोने के जेवरात, टीवी, फ्रिज, कूलर सहित अन्य दहेज मांगे जाने एवं पुलिस को शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी भी दी

बालाघाट/लालबर्रा, सुनील कोरे| दहेज लेना या देना जहां सामाजिक कुरीति की श्रेणी में आता है और शादी (Marriage) से पहले या शादी के बाद दहेज (Dowry) के लिए प्रताड़ित करने के मामलों में बालाघाट (Balaghat) जिला पुरे मध्य प्रदेश (Madhyapradesh) में अव्वल माना जाता है। दहेज से संबंधित मामलें भी किसी से छुपे नहीं है और कानूनी कार्यवाही भी जारी रहती है परन्तु हाल ही में नगर मुख्यालय से 5 किलोमीटर दूर स्थित ग्राम मिरेगांव में एक अजीबोगरीब मामला प्रकाश में आया है| जहां शादी से महज तीन दिन पूर्व दूल्हे ने अपने पिता और भाई के साथ ससुराल पहुंचकर दहेज की मांग की। शिकायत पर पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया|

पुलिस थाना लालबर्रा से प्राप्त जानकारी के अनुसार मिरेगांव निवासी 26 वर्षीय युवती की लिखित शिकायत पर वर पक्ष दूल्हा अनुराग सोनेकर, दूल्हे का भाई 25 वर्षीय अंकित, दूल्हे के पिता 52 वर्षीय प्रकाशचंद पिता रामदास सोनेकर निवासी वार्ड नंबर 4 पुराने पोहा मिल के पीछे ग्राम देवटोला बालाघाट को पुलिस ने गिरफ्तार किया है|

शिकायत में बताया गया कि वर पक्ष ने शादी के एवज में दहेज में दोपहिया पल्सर वाहन, 5 तोला सोने के जेवरात, टीवी, फ्रिज, कूलर सहित अन्य दहेज मांगे जाने एवं पुलिस को शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी भी दी| शिकायत में बताया कि 27 नवंबर को देवटोला निवासी अनुराग पिता प्रकाश चंद सोनेकर(डहरवाल) के साथ युवती की सगाई हुई थी, विवाह का कार्यक्रम 13 दिसंबर को तय किया गया था| परिजनों द्वारा रिश्तेदारी, नातेदारी सहित अन्य परिचितों को शादी का आमंत्रण कार्ड भी छपाकर बांट दिया गया था। प्रार्थिया ने बताया कि सगाई के बाद अनुराग द्वारा दहेज में दोपहिया पल्सर वाहन और 5 तोले सोने के जेवरात मांगने के लिए फोन किया जाता रहा, सगे संबंधी व नाते रिश्तेदारों द्वारा वर अनुराग को समझाया गया कि हमारी हैसियत नहीं है कि तुम्हें इन सारी चीजों की मांगे पूरी कर सकें। ऐसा कहने पर 10 दिसंबर की शाम करीबन 6:00 बजे अनुराग उनके छोटे भाई अंकित और उनके पिता प्रकाशचंद सोनेकर हमारे घर ग्राम मिरेगांव पहुंचे और दहेज़ की मांग पूरी नहीं करने पर रिश्ता तोड़ने की धमकी दी और लड़की के साथ कोई भी घटना घट सकती है कहकर धमकाया| शिकायतकर्ता के परिवार वालों ने बताया कि तीनों व्यक्तियों के द्वारा परिजनों को धमकी भी दी गई यदि हमारे खिलाफ तुम पुलिस थाना जाओगे तो हम तुम्हें जान से खत्म कर देंगे |

थाने में दर्ज मामले में आरोपियों को अभिरक्षा में लिया गया था। जिन्हें मुचलके में जमानत दे दी गई है। चालानी कार्यवाही शेष है।
-जयंत पिछोडे, उपनिरीक्षक, लालबर्रा थाना