Balaghat News : गोधरा कांड का आरोपी चोरी में गिरफ्तार, दो साथी फरार

मलाजखंड के पौनी में ज्वेलर्स के यहां चोरी में था अंतर्राज्यीय गिरोह का हाथ

बालाघाट,सुनील कोरे। मध्यप्रदेश के बालाघाट (balaghat) जिले में 25 जून की प्रथम पहर में शातिराना तरीके से मलाजखंड थाना अंतर्गत पौनी में स्थित ज्वेलर्स रमेशप्रसाद पवन कुमार सर्राफ की ज्वेलरी शॉप से लगभग 42 लाख रूपये कीमत की (72 किलो चांदी) चोरी हुई, इस पूरे मामले में अंतर्राज्यीय गिरोह का हाथ बताया गया। जिसकी लंबी खोजबीन के बाद पुलिस ने एक शातिर और बहुप्रसिसद्ध एवं चर्चित गोधरा कांड में शामिल आरोपी गुजरात के पंचमहल जिला अंतर्गत गोधरा निवासी उस्मान गनी मोहम्मद कॉफीवाला पिता मोहम्मद कॉफीवाला को गिरफ्तार किया है। जिस पर गोधरा कांड में शामिल होने के साथ ही सूरत, आंध्रप्रदेश के चित्तूर में मामले पंजीबद्व है। जबकि इसक शातिर और आदतन अपराधी साथी गोधरा निवासी 35 वर्षीय इरफान नाटी उर्फ जफरू पिता फारूक नाटी और 30 वर्षीय उमर उर्फ पंपोई पिता अब्दुल सत्तार जाड़ी, फरार है, जिनकी पुलिस तलाश कर रही है।

यह भी पढ़े…उदयपुर हत्याकांड : कोर्ट में पेशी के दौरान कन्हैयालाल के हत्यारों पर आक्रोशित भीड़ ने बोला हमला, Video

बता दें कि पुलिस ने आरोपी उस्मान के पास से 26 किलो चांदी बरामद की है। बताया जाता है कि विगत कई दिनों से उस्मान और उसके साथी कंटेनर से जिले में घूम रहे थे, जिनका निशाना, किसी मालवाहक ट्रक को लूटकर उसका सामान कंटेनर में डालकर ले जाने का था। इसी के चलते रैकी कर उन्होंने पौनी स्थित पवन सोनी के ज्वेलर्स में चोरी की घटना को अंजाम दिया था। जिसकी पुलिस लगातार खोजबीन कर रही थी। जिसका स्कैच भी बनाया गया था, वहीं कंटेनर की भी तलाश की जा रही थी।

यह भी पढ़े…घर पर आसानी से इन 3 चीजों का इस्तेमाल कर बनाए सब्जी की ग्रेवी को गाढ़ा, प्याज की जरुरत भी नहीं पड़ेगी   

जिसकी विवेचना कर रही पुलिस टीम ने पुलिस अधीक्षक समीर सौरभ और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आदित्य मिश्रा के नेतृत्व में विवेचना करते हुए गोधरा पहुंची, जहां से आरोपी उस्मान को लाया गया। यहां उससे पूछताछ में उन्होंने अपने दो साथियों के साथ चोरी की घटना को स्वीकार किया। जिसके पास से पुलिस ने 26 किलो चोरी की गई चांदी के साथ ही लगभग 8 लाख रूपये का कंटेनर भी बरामद किया है।

यह भी पढ़े…Covid-19: कोरोना को लेकर विशेषज्ञों ने दी चेतावनी, सावधानी जरूरी, इन लक्षणों को ना करें नजरअंदाज 

गौरतलब हो कि विगत 25 जून के प्रथम पहर में चोरो ने सीसीटीव्ही कैमरे में ग्रीस लगाकर चोरी की घटना को अंजाम दिया था। फिर भी उनकी चोरी की वारदात को अंजाम देते हुए तस्वीर कैद हो गई थी। ज्वेलर्स व्यापारी की शिकायत के बाद पुलिस सीसीटीव्ही के आधार पर चोरो की तलाश में जुटी थी। पीड़ित व्यवसायी मनीष कुमार सोनी ने बताया था कि 25 जून के प्रथम पहर में ज्वेलरी दुकान के सामने एक कंटेनर पहुंचा। जहां से कुछ लोग निकले, जिन्हें दुकान के आठ तालों और चार सेंटर लॉक को तोड़कर दुकान में चोरी की घटना को अंजाम दिया है। चोरो ने स्वयं को सीसीटीव्ही से बचाने के लिए सीसीटीव्ही कैमरे में ग्रीस लगा दिया, फिर भी दुकान में चोरी करने आते और चोरी करते समय उनकी तस्वीरें कैद हो गई है। उन्होंने बताया कि दुकान से चोरो ने जेवर औ पायल के 60 डब्बे और 3 पेटी चांदी की चुरा ले गये है। जो लगभग 72 किलो चांदी है और जिसकी अनुमानित कीमत लगभग 42 लाख रूपये है।

यह भी पढ़े…Kashmir नहीं देखा तो IRCTC दे रहा दो अलग अलग प्लान, सुविधानुसार चुनिए ऑप्शन

अंतर्राज्यीय चोर गैंग के खुलासे और आरोपी उस्मान को गिरफ्तार करने में एसडीओपी बैहर शैलेन्द्र शर्मा, बैहर टीआई जयपाल इनवाती, मलाजखंड टीआई डी.एस. मरावी, उपनिरीक्षक जितेन्द्रसिंह जादौन, अम्बर सिकरवार, शिव रघुवंशी, एएसआई अयूब खान, एएसआई स्केच आर्टिस्ट तुलकराम, प्रआर. राजेश श्रीवास्तव, सनुक सैयाम, आरक्षक उमेश मालवीय, दीपक पटेल, रामेश्वर धुर्वे, अब्दुल गालिब, शिशुपाल कटरे, धरम परमार एवं हरजिंदर राठी का सराहनीय सहयोग रहा।