कान्हा नेशनल पार्क की फर्जी वेबसाइट बनाकर बुकिंग करने वाले ठग को पुलिस ने किया गिरफ्तार

रिसोर्ट बुकिंग के नाम से ठगने वाले ठग को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बालाघाट,सुनील कोरे। कान्हा नेशनल पार्क की फर्जी वेबसाइट बनाकर रिसोर्ट में ऑनलाइन बुकिंग के नाम से ठगने वाले, ठग को बैहर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस के हत्थ चले ठग मध्यप्रदेश अनूपपुर के बिजूरी निवासी अजय कुमार गर्ग उर्फ अजय कुमार शुक्ला पिता बलवीर प्रसाद शुक्ला, कान्हा नेशनल पार्क के कान्हा ट्रेजर इन, अरण्य एवं ग्रांड पीपल रिसोर्ट में काम कर चुका है, जो कान्हा नेशनल पार्क ऑनलाईन सफारी के नाम से फर्जी वेबसाइट तैयार कर कान्हा सफारी के लिए विभिन्न राज्यों और क्षेत्रो से आने वाले लोगों की वह फर्जी बुकिंग कराकर बुकिंग कराने वाले व्यक्तियों को फर्जी इंवाईस भेजकर, उनसे रिसोर्ट में ठहरने एवं सफारी आदि के संपूर्ण किराये की राशि अपने खाते में ऑनलाइन ट्रांसफर करा लिया करता था। आरोपी अजय गर्ग उर्फ अजय शुक्ला ने मोबाईल नंबर 8458920675 नंबर की सिम से विभिन्न लोगों के साथ ऑनलाइन ठगी की। जिसकी मिली शिकायत के आधार पर पुलिस ने कार्यवाही करते हुए आरोपी को गिरफ्तार करने के साथ ही उसके पास से मोबाइल और सिम बरामद किया है, जिससे वह ठगी कर रहा था।

यह भी पढ़े…यदि खाने नमक हो जाए अधिक तो घबराएं नहीं, अजमाएं ये आसान उपायकान्हा नेशनल पार्क की फर्जी वेबसाइट बनाकर बुकिंग करने वाले ठग को पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस को इस मामले की शिकायत सेरेनिटि जंगल रेट्रिट गुदमा के नाम से फर्जी हॉटल बाउचर से ठगी करने के संबंध में मैनेजर से मिली थी। जिसने पुलिस को बताया था कि अजय कुमार गर्ग नामक कोई व्यक्ति द्वारा उनके रिसोर्ट के फर्जी बाउचर तैयार कर लोगों की ऑनलाईन बुकिंग कराई जा रही है, जिससे ना केवल उन्हें नुकसान हो रहा है बल्कि उनके प्रतिष्ठान का भी नाम खराब हो रहा है, व्यवसाय पर इसका विपरित असर पड़ रहा है। अजय कुमार गर्ग द्वारा उनके प्रतिष्ठान के नाम से ऑनलाईन ठगी की जा रही है।

यह भी पढ़े… शिवराज सरकार का बड़ा फैसला, प्रदेश और जिला स्तरीय अवार्ड की घोषणा

जिसे बैहर पुलिस ने गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक के निर्देशन और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय डाबर एवं उपपुलिस अधीक्षक गौरव पाटिल के मार्गदर्शन में टीम गठित की गई और थाने में दर्ज अपराध में धारा 420, 467, 468, 471 भादंवि के मामले को विवेचना में लेकर आरोपी की तलाश की गई। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया है। आरोपी को गिरफ्तार करने में बैहर थाना निरीक्षक जयपाल इनवाती, एएसआई राजकुमार हिरकने, अयूब खान, आरक्षक उमेश मालवीय और सायबर सेल बालाघाट की सराहनीय भूमिका रही।