कोरोना संक्रमण: बालाघाट प्रशासन ने टीएल बैठक, प्रशिक्षण एवं जन सुनवाई कार्यक्रम किए स्थगित

99

 सुनील कोरे।बालाघाट।

विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कोरोना को महामारी घोषित कर दिया गया है। कोराना संक्रमण को रोकने के लिए ज़िला प्रशासन सर्तक एवं मुस्तैद है। आज सोमवार को अल्प समय के लिए टीएल बैठक का आयोजन किया गया था। इस बैठक में कोरोना संक्रमण को रोकने के संबंध में चर्चा की गई । कलेक्टर दीपक आर्य ने बैठक में बताया कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए टीएल बैठक एवं जनसुनवाई आगामी आदेश तक के लिए स्थगित रहेगी। अधिकारियों की बैठकों को भी स्थगति कर दिया गया है। सभी अधिकारी कर्मचारी कर्मचारी अपने कार्यालय में बैठकर कार्य करेंगें। जरूरत पड़ने पर संबंधित अधिकारी कर्मचारी को चर्चा के लिए बुलाया जायेगा।

स्वास्थ्य एवं आयुष विभाग द्वारा जिले में लगाये जा रहे शिविर स्थगित रहेंगें। इसी प्रकार दिव्यांग जनों की पहचान के लिए ज़िला पुनर्वास केन्द्र द्वारा लगाये जा रहे शिविर भी स्थगित रहेंगें। जिले में कहीं पर भी 20 से अधिक लोगों के एकत्र होने वाले समारोह एवं आयोजन को रोकने के लिए उपाय किये जा रहे है। जिले के समस्त कॉलेज, स्कूल, छात्रावासों, कोचिंग संस्थानों को आगामी आदेश तक के लिए बंद रखने कहा गया है।

बैठक में कलेक्टर दीपक आर्य ने अधिकारियों, कर्मचारियों एवं आम जनता से अपील की है कि वे कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए स्वच्छता का पालन करें और अपने आसपास स्वच्छता बनाये रखें। यथा संभव यात्रा को टालने का प्रयास करें। बालाघाट जिला महाराष्ट्र से लगा हुआ है और नागपुर में कोरोना संक्रमित मरीज पाये गये है।  लोगों से अपेक्षा है कि वे अपने घरों में ही रहें और भीड़ वाले स्थानों पर न जायें। रिश्तेदारी में भी कुछ दिनों के लिए जाना बंद कर दें। यदि किसी को सर्दी-खांसी, बुखार के लक्षण हों तो वे स्वयं जागरूक होकर अपनी जांच करायें।

बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ आर सी पनिका ने बताया कि बालाघाट जिले में अब तक कोरोना संक्रमित एक भी मरीज नहीं पाया गया है। लेकिन जिले में सावधानी बरती जा रही है और जिला चिकित्सालय में आईसोलेशन वार्ड में संदिग्ध मरीजों को भर्ती कर परीक्षण किया जा रहा है। डॉ पनिका ने बताया कि इटली जैसे विकसित देश में कोरोना संक्रमित मरीज बड़ी संख्या में पाये गये है, जबकि भारत की तुलना में इटली की स्वास्थ्य सेवायें बहुत अच्छी है। यदि हमारे देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ेगी तो यह एक कठिन एवं मुश्किल स्थिति होगी। अतरू ऐसी स्थिति से बचने के लिए आम जनता पूरी सावधानी बरते।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here