indore

बालाघाट/सुनील कोरे

जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजो का आंकड़ा अब दुगुनी रफ्तार से बढ़ रहा है। कोरोना जांच सैंपल में फिर 16 मरीजो की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसे मिलाकर जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीज की संख्या बढ़कर 130 हो गई है। जिसमें एक्टिव कोरोना मरीजों की संख्या 56 है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि 29 जुलाई को देर रात्रि में आईसीएमआर लैब जबलपुर से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार 14 और मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इस प्रकार जिले में एक्टिव कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 56 हो गई है। चिंता की बात ये है कि पॉजिटिव पाये गये मरीजो में 9 नये मरीज अन्य पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आने वाले है, जिससे जिले में कम्युनिटी स्तर पर कोरोना फैलने की चिंता पैदा हो गई है।

सीएचएमओ ने बताया कि 29 जुलाई को कुल 16 मरीजों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाई गई है इसमें से 2 मरीजों की रिपोर्ट जिला चिकित्सालय बालाघाट की ट्रू-नॉट लैब से प्राप्त हुई है, जो दोनों मरीज वारासिवनी के हैं और पूर्व में कोरोना पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आए थे। 14 मरीजों की रिपोर्ट आईसीएमआर जबलपुर से प्राप्त हुई है जिसमें एक मरीज लांजी तहसील के ग्राम घोटीघुसमारा का है जो हैदराबाद से 26 जुलाई को वापस आया है, एक मरीज बिरसा तहसील के ग्राम बंजारी टोला का है जो भोपाल से 25 जुलाई को वापस आया है, एक मरीज वारासिवनी का है जो भोपाल से 23 जुलाई को वापस आया है, एक मरीज कटंगी तहसील के ग्राम सिंगोड़ी का जो नागपुर से आने के बाद वारासिवनी के क्वारंटाइन सेंटर में पहुंच गया था। एक मरीज बालाघाट तहसील के ग्राम भरवेली का है जो 25 जुलाई को भोपाल से आया है और एक मरीज ग्राम चरेगांव का जो 27 जुलाई को नागपुर से वापस आया है। 7 मरीज परसवाड़ा तहसील के ग्राम छपरवाही के हैं जो पूर्व में कोरोना पॉजिटिव आए छपरवाही के टैक्सी ड्राइवर के संपर्क में आए थे। एक मरीज उकवा का है वह भी छपरवाही के टैक्सी ड्राइवर के संपर्क में आया था। कोरोना पॉजिटिव पाए गए इन सभी 16 मरीजों को उपचार के लिए आईटीआई के पीछे बूढ़ी बालाघाट में बनाए गए कोविड अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। इस प्रकार बालाघाट जिले में एक्टिव कोरोना मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 56 हो गई है। अब तक बालाघाट जिले में कुल 130 मरीज कोरोना पाए जा चुके हैं, इनमें से 74 मरीज शासन के प्रोटोकॉल के अनुसार ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं और 56 मरीजों का उपचार जारी है।