लांजी, सुनील कोरे| बहेला थाना अंतर्गत ग्राम ठेमा में 29 अक्टूबर को एक 24 वर्षीया नवविवाहिता की हत्या मामले में फरार आरोपी पति को बहेला पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गौरतलब हो कि नवविवाहिता ज्योति की मौत पर मायके पक्ष द्वारा हत्या करने के आरोप लगाए थे। घटना के बाद से आरोपी पति फरार था। जिसकी पुलिस लगातार तलाश कर रही थी और आखिरकार अपनी पत्नी का हत्या कर फरार चल रहे आरोपी पति 27 वर्षीय उमेश कुमार कुराहे पिता मेहतर कुराहे को पकड़ने में पुलिस को सफलता मिली।

एसडीओपी दुर्गेश आर्मो ने बताया कि बहेला अंतर्गत ठेमा में विगत 29 अक्टूबर को नवविवाहिता 24 वर्षीय मृतिका प्रेमलता उर्फ ज्योति पति उमेश कुमार कुराहे की मौत हो गई थी। जिसमें पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच में लिया था।

नवविवाहिता मृतिका ज्योति के मर्ग विवेचना और पीएम रिपोर्ट से मृतिका के गला दबाने से मौत होने की पुष्टि होने पर आरोपी पति 27 वर्षीय उमेश कुमार कुराहे पिता मेहतर कुराहे के खिलाफ धारा 302 ताहि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। घटना के बाद से फरार आरोपी पति की तलाश की जा रही थी। जिसके अंधियाटोला के जंगल में होने की सूचना के बाद उसे घेराबंदी कर पकड़ा गया। बताया जाता है कि आरोपी पति उमेश ने पति प्रेमलता उर्फ ज्योति पर चरित्र को लेकर शंका करता था। इससे पूर्व भी बालाघाट के गर्रा में रहते हुए उसने पत्नी को मारने का प्रयास किया था लेकिन उस समय वह असफल रहा था। जिसके बाद 29 अक्टूबर को उसने गांव में उसकी गला दबाकर हत्या कर दी थी।

आरोपी को पकड़ने में पुलिस महानिरीक्षक एवं उप पुलिस महानिरीक्षक के निर्देशन और पुलिस अधीक्षक एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के मार्गदर्शन तथा लांजी पुलिस अनुविभागीय अधिकारी दुर्गेश आर्मो के निर्देशन में बहेला थाना प्रभारी उपनिरीक्षक अनूप यादव, प्रधान आरक्षक महेश सौलखे, आरक्षक चेतन सोनी, आरक्षक विजय नरताम, आरक्षक रविंद्र राउत, आरक्षक मोरेश्वर सोनटक्के, आरक्षक गोविंद राजपूत, आरक्षक उत्तम दिनकर, आरक्षक जयसूर्या, आरक्षक नरेश भारती, आरक्षक पुष्पेंद्र रावत, आरक्षक धनेंद्र टेंभरे, आरक्षक विनय राघव, आरक्षक जगमोहन सिंह का योगदान सराहनीय रहा।