पूर्व मंत्री बिसेन के बिगड़े बोल, बालाघाट RTO को दी गालियां, बोले “फांसी पर चढ़ा दूंगा”

यह वीडियो बालाघाट के लालबर्रा थाने की बैठक का बताया जा रहा है, जिसमें वे पुलिस विभाग और परिवहन अधिकारियों को आड़े हाथों लेते हुए जमकर बरसे। इतना ही नहीं उन्होंने आरटीओ अधिकारी को सैकड़ों लोगों की उपस्थिति में हरामखोर तक कह डाला।बता दे कि वर्तमान में बालाघाट के आरटीओ अधिकारी अनिमेष गढ़पाल है, जो अनुसूचित जाति से आते है।

Gaurishankar Bisen Viral Video: अपने बयानों को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहने वाले एमपी के पूर्व मंत्री, वरिष्ठ भाजपा विधायक और मध्यप्रदेश पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष गौरीशंकर बिसेन (Gaurishankar Bisen) एक बार फिर चर्चाओं में है। इसका कारण सोशल मीडिया पर उनका एक वीडियो वायरल होना है, जिसमें वे बालाघाट आरटीओ को ना सिर्फ गाली बल्कि फांसी पर चढ़ाने की भी धमकी दे रहे है। सोशल मीडिया पर उनका यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है।

यह वीडियो बालाघाट के लालबर्रा थाने की बैठक का बताया जा रहा है, जिसमें वे पुलिस विभाग और परिवहन अधिकारियों को आड़े हाथों लेते हुए जमकर बरसे। इतना ही नहीं उन्होंने आरटीओ अधिकारी को सैकड़ों लोगों की उपस्थिति में हरामखोर तक कह डाला।बता दे कि वर्तमान में बालाघाट के आरटीओ अधिकारी अनिमेष गढ़पाल है, जो अनुसूचित जनजाति से आते है।

पुलिस अधिकारियों पर भी जमकर बरसे

वही जिले में लगातार हो रहे सड़क हादसे को लेकर परिवहन अधिकारियों पर निशाना साधते हुए कहा कि बालाघाट विधानसभा (Balaghat Assembly) में 75 प्रतिशत ट्रैक्टर चालक बिना लायसेंस के ट्रैक्टर चलाते हैं। इसके साथ ही बस की हालात भी खराब हैं। ऐसे अधिकारी जो ध्यान नहीं दे रहा है, इसके लिये परिवहन मंत्री को फोन करके और पत्र लिख कर ट्रांसफर करने कहा है।पूर्व मंत्री ने पुलिस विभाग को भी जमकर कोसा और कहा कि पुलिस विभाग भी ध्यान नहीं दे रहा है। सिर्फ सुबह से रोड और चौक पर निकल कर पर्ची काटने लगते हैं और अपनी जेबे भर रहे हैं।

कांग्रेस ने की FIR की मांग

इस वायरल वीडियो पर कांग्रेस नेता केके मिश्रा ने ट्वीट कर लिखा है कि BJP के वरिष्ठ नेता गौरीशंकर बिसेन यानी अभद्रता के पर्याय!! जनजाति के एक अधिकारी के खिलाफ उन्होंने जिस शब्दावली का सार्वजनिक मंच से उपयोग किया है,क्या उनके खिलाफ एट्रोसिटी एक्ट के तहत FIR दर्ज होगी..? अपमानित अधिकारी से आग्रह है कि वे अपने सम्मान के लिए FIR कराएं।

पहले भी दे चुके है कई बयान

यह पहला मौका नहीं है इससे पहले भी बिसेन अपने विवादित बयानों से सुर्खियों में रह चुके है।हाल ही में छिंदवाड़ा बालाघाट दौरे के दौरान पूर्व मंत्री बिसेन ने राज्य सरकार को चेतावनी दी है ती कि राशन के दुकानों में गेहूं का आवंटन नहीं हुआ तो वे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से इसकी शिकायत करेंगे। उन्होंने राशन दुकानों में गेहूं की उपलब्धता के लिए राज्य सरकार को एक सप्ताह की चेतावनी दी है और कहा कि यदि सप्ताह भर में गेहूं की उपलब्धता के लिए केन्द्र से बातचीत नहीं की गई तो वे सीधे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से शिकायत करेंगे।