हार्डकोर नक्सली बादल की निशानदेही पर नक्सली असलहा और साहित्य बरामद

बालाघाट, सुनील कोरे। दो प्रदेशों मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में 8 लाख के ईनामी नक्सली बादल उर्फ कोसा मरकाम ने पुलिस रिमांड में नक्सलियों और नक्सली डंप से जुड़ी कई अहम जानकारी दी है। इस जानकारी की पड़ताल में जुटी बालाघाट पुलिस ने 20 सितंबर को गढ़ी थाना अंतर्गत कान्हा नेशनल पार्क के सूपखार रेंज अंतर्गत खमोड़ी दादर से बड़ी मात्रा में नक्सलियों का असलहा और साहित्य बरामद किया है।

पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी ने बताया कि पुलिस रिमांड के दौरान नक्सली बादल उर्फ कोसा से की गई पूछताछ में डंप की जानकारी मिली थी, जिसके बाद उसकी निशानदेही पर कान्हा नेशनल पार्क के जंगल अंतर्गत खमोड़ी दादर स्थल पर छिपाकर रखे गये नक्सली डंप को पुलिस और हॉकफोर्स की टीम ने बरामद किया है। इनमें 12 बोर रायफल सिंगल बैरल 3 नग, 12 बोर राउंड 43 नग, एसएलआर के राउंड 13 नग, 303 के राउंड 15 नग, सिंगल शाट के 18 नग, पोंच 1 नग, 12 बोर फूल थ्रू 1 नग, लोहे की कुल्हाड़ी, नक्सली शहीद सप्ताह पाम्पलेट 23 नग, नक्सली साहित्य किताब 25 नग, कामरेड रामन्ना रावुला श्रीनिवास श्रद्वाजंली पाम्पलेट 1 नग बरामद किया गया है।

पुलिस अधीक्षक का कहना है कि नक्सली बादल उर्फ कोसा से कई और महत्वपूर्ण जानकारी मिली है, जिसकी पुलिस तफ्तीश कर रही है। कुछ और जगह नक्सली डंप की जानकारी नक्सली बादल उर्फ कोसा ने दी थी, लेकिन वहां कुछ नहीं मिला है जिससे यह संभावना जताई जा रही है कि नक्सली बादल के पकड़ाये जाने के बाद नक्सली संगठन ने उसकी जानकारी में छिपाकर रखे गये कई डंप को खाली कर दिया है। वहीं पुलिस कुछ नक्सली गतिविधियों की मिली जानकारी को भी खंगालने में जुटी है। पुलिस को उम्मीद है कि नक्सली बादल उर्फ कोसा से पूछताछ में नक्सलियों से जुड़ी और कई अहम जानकारी मिल सकती है।

गौरतलब है कि विगत 17 सितंबर को मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के ईनामी नक्सली एवं विस्तार दलम-2 के सक्रिय सदस्य बादल उर्फ कोसा मरकाम को बालाघाट पुलिस ने मलाजखंड थाना अंतर्गत समनापुर के बांदाटोला से उस वक्त गिरफ्तार किया था, जब वह अपने नक्सली साथी रूपेश के साथ पुलिस को देखकर भाग रहा था। उसका पीछा करते हुए पुलिस ने जांबाजी दिखाते हुए तालाब में कूदकर भागते समय उसे पकड़ा था। यह बालाघाट पुलिस को 35 लाख के नक्सली दिलीप गुहा के बाद बड़ी सफलता मिली थी। जिस तरह पुलिस के हत्थे चढ़ने के बाद नक्सली दिलीप गुहा ने नक्सलियों से संबंधित अहम जानकारी पुलिस को दी थी, उसी तरह बादल उर्फ कोसा से पुलिस नक्सली नेटवर्क से जुड़ी जानकारी हासिल कर नक्सलियों के मंसुबो को ध्वस्त करने में जुट गई है। नक्सली बादल के पकड़े जाने के बाद भारी मात्रा में असलहा और साहित्य की बरामदगी इसी मामले से जुड़ी कड़ी है। पुलिस अब बादल के जरिये नक्सलियों की गतिविधियों को एग्जामिन करने में जुटी है, ताकि नक्सली नेटवर्क को बादल की जानकारी के सहारे तोड़ा जा सके।

इनका कहना है
विगत दिनों पकड़ाये गये नक्सली बादल उर्फ कोसा से पूछताछ में पुलिस ने कान्हा नेशनल पार्क के सूपखार रेंज अंतर्गत खमोड़ी दादर से बड़ी मात्रा में नक्सलियों का असलहा और साहित्य बरामद किया है। उससे और पूछताछ की जा रही है। पुलिस को नक्सली बादल से नक्सली गतिविधियों से जुड़ी कुछ अहम जानकारी भी मिली है, जिसकी पुलिस पड़ताल कर रही है।
अभिषेक तिवारी, पुलिस अधीक्षक