पारिवारिक विवाद के बाद मां ने दो बच्चों को जहर खिलाकर खुद भी खाया जहर, तीनों की मौत

71-farmers-die-in-six-months-in-mp

बालाघाट/सुनील कोरे

जिले के रूपझर थाना के उकवा चौकी अंतर्गत ग्राम लगमा में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है।  एक मां ने अपने दो बच्चों को जहर देने के बाद खुद भी जहर पीकर जान दे दी। घटना में दोनों बच्चो सहित मां की मौत हो गई। घटना बुधवार सुबह 10 बजे की है।

जानकारी अनुसार लगमा निवासी प्रमोद कटरे और पूजा का 14 वर्ष पूर्व प्रेम विवाह हुआ था। उनका एक बेटी और एक बेटा था। वर्तमान में बड़ी बेटी भावना 13 वर्षीय और छोटा बेटा आदित्य 8 वर्ष का था। परिवार की मामुली खटखट के बीच दोनो का दाम्पत्य जीवन चल रहा था। बीते 19 मई की रात पति प्रमोद और पत्नी 30 वर्षीय पूजा के बीच जमकर पारिवारिक विवाद हुआ जिसके बाद पति अलग कमरे में जाकर सो गया। जबकि पत्नी अपने कमरे में और बच्चे दादा, दादी के पास सो गये थे। बुधवार सुबह प्रमोद, उसकी पत्नी और बच्चों को छोड़कर शेष सदस्य तेंदुपत्ता संग्रहण के कार्य से बाहर चले गये थे और भाई संजय के अनुसार प्रमोद भी सुबह 9 बजे कहीं घर से बाहर चला गया था। जब वह घर लौटे तो देखा कि भाभी और बच्चे घर के कमरे में बेहोश पड़े है। जिसके तत्काल बाद वह उन्हें लेकर निजी चिकित्सक के पास पहुंचे। जहां उनकी हालत को देखते हुए निजी चिकित्सक की सलाह पर तीनो को उकवा अस्पताल लाया गया, जहां से उन्हें गंभीर हालत में रेफर कर जिला चिकित्सालय लाया गया। लेकिन रास्ते में ही उनकी मौत हो गई। बालाघाट पहुंचे सभी तीनों लोगों की जांच उपरांत चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया।

अस्पताल से मृतकों की तहरीर मिलने के बाद अस्पताल चौकी पुलिस एएसआई लखन भिमटे, प्रधान आरक्षक हुकुमचंद उईके और आरक्षक मुवनेश्वर भगत ने शव बरामद कर पंचनामा कार्यवाही के बाद दोनो बच्चों और महिला के शव का पीम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया। उधर अस्पताल से बच्चों सहित मां की मौत की जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने घटनास्थल को सील कर दिया है। मामले में परिजनों के बयान और विवेचना उपरांत ही घटना की वास्तविकता का पता चल पायेगा कि आखिर किस कारण से एक मां ने इतना बड़ा कदम उठाकर बच्चों के साथ स्वयं को आत्महत्या कर ली।

इनका कहना है
थाना के उकवा चौकी अंतर्गत एक मां सहित दो बच्चों की मौत मामले की जानकारी के बाद घटनास्थल को सील कर दिया गया है। अस्पताल से मर्ग डायरी उपरांत मामले की विवेचना की जायेगी। परिजनों के बयान और विवेचना के बाद ही मौत के कारणों का पता चल पायेगा।
अरूण कुमार सोलंकी, थाना प्रभारी, रूपझर