शादी की खुशियां गम में बदली,होने वाले दूल्हे ने बेरोजगारी के कारण की खुदकुशी की कोशिश

-Election-Commission-will-decide-whether-to-get-married-under-Kanyadan-Yojana

बालाघाट/सुनील कोरे

जिस दूल्हे की बारात खुशियों के साथ लड़की के घर जाने वाली थी, वही दूल्हा आज अस्पताल पहुंच गया। मामला रामपायली थाना क्षेत्र के ग्राम लड़सड़ा की है। बुधवार सुबह तक 26 वर्षीय राहुल पिता गोपीचंद घोड़ेश्वर की बारात को लेकर घर का माहौल खुशियों से सराबोर था। बीती रात दूल्हे की हल्दी के रस्म में सभी परिजनों और रिश्तेदारों ने जमकर खुशियां मनाई। बुधवार सुबह बारात निकलने से पहले दूल्हे को हल्दी लगाने की रस्म होने वाली थी, इसी बीच राहुल टॉयलेट जाने की बात कहकर वहां से चला गया। जब काफी देर तक वह वापस नहीं लौटा तो चितिंत परिजनों ने उसे टॉयलेट के बाहर से आवाज दी, लेकिन उसका कोई जवाब नहीं मिलने से परेशान परिजनो ने दरवाजा तोड़ दिया। जिसके बाद देखा कि दूल्हा राहुल खून से लथपथ पड़ा था। राहुल ने लोहे के किसी धारदार हथियार से अपने बांये हाथ की कलाई और गर्दन के पास खुद ही वार कर लिया था। घबराए परिजन तुरंत राहुल को लेकर जिला चिकित्सालय पहुंचे जहां उसका उपचार जारी है।

दूल्हे राहुल के द्वारा उठाये गये इस कदम से न केवल उसके परिजन, रिश्तेदार बल्कि लड़की वाले भी चितिंत है। घटना की जानकारी मिलने के बाद होने वाली दुल्हन और उसके उसके परिजन भी अस्पताल में राहुल से मिलने पहुंचे। घटना के बाद से लड़के और लड़की दोनों परिवार में शादी की खुशियां अचानक गम में बदल गई। हालांकि राहुल की स्थिति में अभी सुधार है, और उसपर डॉक्टर नजर बनाये हुए हैं।

बताया जा रहा है कि रामपायली थाना अंतर्गत लड़सड़ा निवासी राहुल घोड़ेश्वर का विवाह पिछले साल दिसंबर में खैरी में पक्का हुआ था। उसका विवाह अप्रैल में होना तय हुआ था, लेकिन लॉक डाउन के कारण शादी की तिथि को आगे बढ़ा दिया गया था। परिजन अब दीपावली के बाद विवाह करना चाहते थे, लेकिन इसी दौरान संयोग बना कि दोनों का विवाह एक जुलाई को कर दिया जाए। 1 जुलाई को लड़सड़ा से राहुल घोड़ेश्वर की बारात, खैरी जानी थी, लेकिन इससे पहले ही दूल्हे राहुल द्वारा स्वयं को चोटिल किये जाने से विवाह की खुशियां गम में बदल गई। घायल राहुल ने बताया कि वह निजी स्कूल में शिक्षक है लेकिन वर्तमान समय में कोविड-19 के कारण स्कूल बंद है, ऐसी स्थिति में विवाह होने को लेकर वह मानसिक रूप से परेशान था, उसे कुछ समझ नहीं आ रहा था। काम धंधा नहीं होने की चिंता और मानसिक तनाव के कारण उसने खुद को ही खत्म करने के लिए धारदार हथियार से हाथ और गले के पास वार किया था। बहरहाल इस मामले में अस्पताल चौकी पुलिस ने दूल्हे राहुल के बयान देने में सक्षम नहीं होने के कारण उसके परिचित के बयान दर्ज कर लिये है। मामले की अग्रिम जांच संबंधित थाना पुलिस द्वारा की जायेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here