14 वां आदिवासी युवा आदान-प्रदान कार्यक्रम में शामिल होंगे जिले के युवा

पूरे प्रदेश में एकमात्र बालाघाट जिले का चयन, 39 युवाओं का दल रवाना

बालाघाट,सुनील कोरे। मध्यप्रदेश के बालाघाट (balaghat) जिले के लिए गौरव की बात है कि पूरे प्रदेश से एकमात्र बालाघाट जिले का चयन भारत सरकार द्वारा 14 वां आदिवासी युवा आदान-प्रदान कार्यक्रम के लिए किया गया है। जो जिले के लिए गर्व की बात है। गृह मंत्रालय भारत सरकार, जिला प्रशासन एवं केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल 123 वाहिनी के सहयोग से आदिवासी युवा आगामी 15 से 21 अक्टूबर तक दिल्ली में भारत सरकार के युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार द्वारा 14 वां आदिवासी युवा आदान-प्रदान कार्यक्रम आयोजित कार्यक्रम में भाग लेंगे।

युवाओं को संस्कृति, व्यक्तित्व विकास की जानकारी देने के उद्देश्य से भारत सरकार के युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार द्वारा 14 वां आदिवासी युवा आदान-प्रदान कार्यक्रम के अंतर्गत नेहरू युवा केंद्र द्वारा कलेक्टर डॉ. गिरीश कुमार मिश्रा, 123 बटालियन भरवेली कमांडेंट सुधीर कुमार, नेहरू युवा केंद्र जिला युवा अधिकारी सुश्री रश्मि शबनम गुप्ता द्वारा 13 अक्टूबर को बिरसा विकास खंड के 39 युवाओं का दल 14 आदिवासी युवा आदान-प्रदान कार्यक्रम में भाग लेने के लिए दिल्ली के लिए हरी झंडी दिखाकर एवं भारत माता के जयकारे के साथ रवाना किया गया।

इस अवसर पर जिला युवा अधिकारी सुश्री रश्मि शबनम गुप्ता ने बताया कि 14 वां आदिवासी युवा एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत जिले के बिरसा विकासखंड का चयन किया गया है। जिसमें चयनित आदिवासी युवाओं का दल 15 अक्टूबर से 21 अक्टूबर तक दिल्ली में आयोजित 14 वें आदिवासी युवा आदान-प्रदान कार्यक्रम में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल 123 वाहिनी बालाघाट गृह मंत्रालय भारत सरकार एवं जिला प्रशासन के सहयोग से भाग लेंगा। इस कार्यक्रम के माध्यम से सांस्कृतिक, खेलकूद, मोटिवेशन प्रोग्राम सहित प्रसिद्ध हस्तियों राजनेताओं, फिल्म जगत के हस्तियों के साथ शामिल होने का अवसर है।

14 वां आदिवासी युवा आदान-प्रदान कार्यक्रम में शामिल होंगे जिले के युवा

कलेक्टर डॉ. गिरीश कुमार मिश्रा ने कहा कि बालाघाट जिले के दूरस्थ अंचल के युवा दिल्ली में जाकर बहुत सारी जानकारी प्राप्त करेंगे एवं सीखकर बालाघाट जिले का नाम आगे बढ़ाएंगे। भारत सरकार द्वारा प्रदेश से एकमात्र बालाघाट जिले का चयन किया गया है जो कि जिले के लिए गर्व की बात है, उन्होंने जिले में भी युवाओं के व्यक्तित्व विकास एवं कैरियर मार्गदर्शन देने के लिए भी प्रशिक्षण देने की बात कही। उन्होंने इस कार्यक्रम के लिए नेहरू युवा केंद्र संगठन को बधाई दी। इस अवसर पर कमांडेंट सुधीर कुमार ने कहा कि एक अच्छा अवसर है आदान-प्रदान कार्यक्रम के माध्यम से युवा अपना व्यक्तित्व का विकास करेंगे एवं संस्कृति रहन सहन, कैरियर संबंधी जानकारी जान पाएंगे। शामिल होने जा रहे युवाओं को बालाघाट से नई दिल्ली तक जाने एवं उन्हें सकुशल वापस लाने के लिए 123 बटालियन द्वारा 2 महिला सुरक्षाकर्मियों युवाओं के लिए 3 पुरुष सुरक्षाकर्मी तैनात कर सुरक्षा मुहैया उपलब्ध कराई गई है।

14 वां आदिवासी युवा आदान-प्रदान कार्यक्रम में शामिल होंगे जिले के युवा

इस कार्यक्रम के माध्यम से युवाओं में जोश एवं उनके चेहरे पर खुशी दिखाई दे रही है। भारत माता की जय के नारे भी दल के बच्चों द्वारा लगाये गये। इस अवसर पर 123 बटालियन के द्वितीय कमान अधिकारी श्रीमती तेजिंदर कौर, द्वितीय कमान अधिकारी वी.के.शर्मा, उप कमांडेंट सुनील कुमार खत्री, लेखा एवं कार्यक्रम पर्यवेक्षक सी.आर. जंघेला, केंद्रीय संचार ब्यूरो अजय बैस एवं राष्टीय युवा स्वयंसेवको सहित युवा उपस्थित थे।