बालाघाट में फिर मिले दो नए केस, पति-पत्नी पॉजिटिव

बालाघाट। सुनील कोरे| जिले में कोरोना पॉजिटिव (CORONA POSITIVE) मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। जिले में अब तक 20 कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आये है। हालांकि इसमें 12 कोरोना पॉजिटिव मरीज ठीक होकर घर लौट चुके है, जबकि आज 22 जून को वारासिवनी के पति-पत्नी कोरोना पॉजिटिव मिलने से डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर में मरीजों की संख्या बढ़कर 8 हो गई है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मनोज पांडेय ने बताया कि 20 जून को 30 संदिग्ध मरीजों के सैंपल जांच के लिए भेजे गये थे। जिनकी जांच रिपोर्ट आज 22 जून को आईसीएमआर जबलपुर से प्राप्त हुई है। इसमें से 28 रिपोर्ट कोरोना नेगेटिव आई है जबकि 2 रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। जबकि इनकी पांच साल की बेटी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। कोरोना पॉजिटिव पाये गये दोनों मरीज वार्ड नंबर 9 वारासिवनी के है, पॉजिटिव पाई गई महिला गर्भवती है। जिनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें डेडीकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर गायखुरी बालाघाट में शिफ्ट कर दिया गया है। जिन्हें मिलाकर जिले में अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 8 हो गई है। जिसमें इसमें वारासिवनी के 4, गजपुर पांजरा का एक, परसवाड़ा के दो एवं घुनाड़ी की एक मरीज शामिल है।

गौरतलब हो कि बालाघाट जिले में अब तक कुल 28 कोरोना पॉजिटिव मरीज पाये गये हैं। इनमें से ग्राम भजियादंड के तीन, बेनी के तीन, मोहझरी का एक, भुरसाडोंगरी के दो, बिसोनी के दो एवं ग्राम डोकरबंदी का एक मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुका है। इस प्रकार अब तक कुल 12 मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं और 8 मरीजों का उपचार जारी है।

18 की शाम मुंबई से पहुंचे थे पति, पत्नी और बेटी
बताया जाता है कि मुंबई से 17 मई की पति, पत्नी और बेटी, हावड़ा ट्रेन से चलकर छत्तीसगढ़ के दुर्ग पहुंचे थे। जहां से वारासिवनी वार्ड नंबर 9 निवासी वाहन चालक इन्हें लेने दुर्ग गया था। जो 18 जून की दोपहर 3 बजे उन्हें दुर्ग से लेकर रात लगभग 7 बजे वारासिवनी पहंुचा। जिसके बाद से पति, पत्नी और बेटी घर में ही थे। बताया जाता है कि पत्नी का मायका वारासिवनी का है, जो अपने पति और बेटी के साथ 18 जून की रात किराये के वाहन से अपने मायके पहुंची थी। जो लगभग दो दिनों तक मायके में अपनी मां, दो भाई और बहन तथा उसके एक छोटे बच्चे के साथ घर पर रही। जिसके बाद 20 जून की दोपहर पति, पत्नी और उसकी पांच वर्षीय बेटी को आंबेडकर भवन के क्वारेंटाईन सेंटर में लाया गया था। जहां तीनो के सैंपल लेकर उन्हें जांच के लिए जबलपुर आईसीएमआर लेब भेजा गया था। जिनकी 22 जून की शाम आई रिपोर्ट में पति-पत्नी, कोरोना पॉजिटिव पाये गये है। जबकि पांच वर्ष की बेटी की रिपोर्ट नेगेटिव है।

महिला और चालक के परिजनों को किया गया होम क्वारेंटाईन
मुंबई से वारासिवनी पहुंचे पति, पत्नी की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद, प्रशासन की चिंता बढ़ गई है, चूंकि पत्नी के मायके पक्ष के सदस्यों के अलावा उन्हें वाहन से लाने वाला मोहल्ले का वाहन चालक इस दौरान कई लोगों के संपर्क में आया है। हालांकि ऐतिहात के तौर पर महिला के परिजनों और चालक के परिजनों को होम क्वारेंटाईन कर दिया गया है और आसपास के लोगों से अभी इन लोगों से दूरियां बनाये रखने के निर्देश दिये गये है। बताया जाता है कि चालक के परिवार में भी उसकी पत्नी और 6 माह से लेकर 8 वर्ष और 12 वर्ष के तीन बच्चे है।