जब एक महिला SDM ने पुरुष SDM का काटा चालान… फिर हुआ ये

बालाघाट।
अगर आप लॉक डाउन (lock down) में भी नियमों का पालन नही करेंगे तो आप पर कार्रवाई होना निश्चित है फिर चाहे आप नेता हो या कोई अधिकारी। बुधवार को कुछ ऐसा ही बालाघाट(balaghat) में देखने को मिला, जिसने साबित कर दिया कि प्रदेश में कानून सबके लिए बराबर होता है। यहां एक एसडीएम (sdm) ने दूसरे एसडीएम (sdm) का चालान काटा।

दरअसल, मामला बालाघाट के किरनापूर का है जिसमें यहां बुधवार को किरनापूर की ट्रेनी डिप्टी कलेक्टर निकिता मंडलोई (Trainee Deputy Collector Nikita Mandloi) बाजार चौक में वाहनो की जांच कर रही थी। इसी दौरान लांजी के एसडीएम  रविन्द्र परमार का वाहन सामने से गुजरा जिसे रोक कर उन्होंने ने उन्हे मास्क नही पहनने को लेकर टोका और उनके उपर 100 रुपए का जुर्माना लगाया।परमार बालाघाट जा रहे थे, इस दौरान उनके ड्राइवर और उन्होंने स्वयं मास्क नहीं लगाया था।  इसके अलावा ट्रेनी डिप्टी कलेक्टर निकिता मंडलोई ने एक दूल्हे से भी मास्क नहीं लगाने पर जर्माना वसूला और एक अन्य व्यक्ति से उठक-बैठक लगवाई।वही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की नसीहत दी।

खास बात ये है कि कलेक्टर दीपक आर्य बालाघाट ने प्रशासकीय अधिकारी के बीच किए गए कार्य विभाजन में परिवीक्षाधिन डिप्टी कलेक्टर निकिता मंडलोई को एक दिन पहले ही किरनापुर का प्रभार सौंपा था। प्रभार मिलते ही किरनापुर एसडीएम मंडलोई पुलिस बल के साथ सड़क पर उतरी और एसडीएम का चालान काटकर बता दिया कि कानून सबके लिए बराबर होता है।