MP Tourism : ठंड में पर्यटकों की पसंद बना बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व, नहीं मिल रही सफारी करने के लिए टिकट

MP Tourism : सबसे ज्यादा लोग मध्यप्रदेश के बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में सफारी करने पहुंच रहे हैं। बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व बाघों, वन्य प्राणियों और प्राकृतिक सुंदरता के लिए विश्व प्रसिद्ध है।

MP Tourism : सर्दियों के मौसम में सबसे ज्यादा लोग घूमने के लिए जाते हैं। ठंड में घुमा और छुट्टियों का मजा लेना लोगों के जीवन में आनंद भर देता हैं। इस बार सबसे ज्यादा लोग मध्यप्रदेश घूमने के लिए आ रहे हैं। जब से महाकाल लोक खुला है तब से मध्यप्रदेश में पर्यटकों की संख्या बढ़ गई है। ऐसे में लोग उज्जैन, इंदौर घूमने के साथ साथ वाइल्ड लाइफ को एन्जॉय करने के लिए मध्यप्रदेश के टाइगर रिजर्व का दीदार कर रहे हैं। बाघों का दीदार करने का उत्साह पर्यटकों में काफी ज्यादा देखने को मिल रहा हैं। ठंड शुरू होते ही लोग सैर पर निकल पड़े हैं।

बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व बना पहली पसंद –

सबसे ज्यादा लोग मध्यप्रदेश के बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में सफारी करने पहुंच रहे हैं। बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व बाघों, वन्य प्राणियों और प्राकृतिक सुंदरता के लिए विश्व प्रसिद्ध है। यहां देश के अलावा विदेशी लोग भी घूमने के लिए आते हैं। जैसा कि आप सभी जानते हैं मध्यप्रदेश को टाइगर स्टेट के नाम से जाना जाता है। ऐसे में यहां सबसे ज्यादा बाघ देखने के लिए दूर दूर से लोग आते हैं।

दूर-दूर से सफारी करने आ रहे लोग –

कड़ाके की ठंड और घने कोहरे बीच लोग बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में सफारी करने के लिए आ रहे हैं और बाघों का दीदार कर इन यादों को अपने कैमरे में कैद कर रहे हैं। आपको बता दे, दिसंबर के महीने में ही यहां करीब 24 हजार से ज्यादा पर्यटकों ने बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में सफारी की और बाघों का दीदार कर जंगल में घूमने का लुफ्त उठाया। लोग सुबह से आकर शाम तक पूरे टाइगर रिजर्व में घूमने का आनंद परिवार के साथ लेते हैं। कई लोग तो यहां फोटोग्राफी करने के लिए स्पेशल आते हैं। दूर-दूर से आए लोगों का यहां का प्राकृतिक नजारा काफी ज्यादा भाता है।

पहले से फुल चल रही बुकिंग –

यहां का नजारा देख और बाघों के साथ अन्य जिव जंतुओं को देख पर्यटकों का दिल बाघ बाघ हो जाता है। सिर्फ देश और मध्यप्रदेश ही नहीं विदेशी लोग भी यहां वाइल्ड लाइफ को एन्जॉय करने के लिए आते हैं। हालांकि भारत के लोगों के लिए यहां का टिकट थोड़ा कम है और विदेशी पर्यटकों के लिए थोड़ा ज्यादा हैं। अभी तो हालात ऐसे हैं कि घूमने आए लोगों को सफारी करने के लिए टिकट तक नहीं मिल पा रहे हैं क्योंकि पहले से ही बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में सफारी टिकट बुकिंग फुल चल रही है।