कलेक्टर का एक्शन- रोजगार सहायक को किया बर्खास्त, पंचायत सचिव तत्काल प्रभाव से निलंबित

इतना ही नहीं इस कार्य में उनकी भागीदारी निभाने वाले रोजगार सहायक भूषण तेली भी संविदा नियुक्ति समाप्त करने के निर्देश जनपद पंचायत सीईओ को दिए गए हैं।

निलंबित

बड़वानी, डेस्क रिपोर्ट। कार्य में लापरवाही करने वालों के खिलाफ मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में सख्त कार्रवाई शुरू हो गई है। वहीँ दोषियों के खिलाफ कड़े एक्शन भी लिए जा रहे हैं। इसी बीच कार्य में लापरवाही का एक और मामला सामने आया है। जिसके बाद ग्राम पंचायत के पंचायत सचिव को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। इसके साथ ही रोजगार सहायक को भी बर्खास्त कर दिया गया है।

दरअसल मामला मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले का है। यहां कुछ दिन पहले पंचायत सचिव के कार्य में अनियमितता की शिकायत ग्रामीणों द्वारा कलेक्टर (collector) से की गई थी। जिसके बाद जिला पंचायत सीईओ (District Panchayat CEO) ने कलेक्टर से ग्रामीणों द्वारा की गई शिकायत को सही माना और पंचायत सचिव तनीलाल जाधव को तत्काल प्रभाव से निलंबित (suspend) कर दिया। इतना ही नहीं इस कार्य में उनकी भागीदारी निभाने वाले रोजगार सहायक भूषण तेली की भी संविदा नियुक्ति समाप्त करने के निर्देश जनपद पंचायत सीईओ को दिए गए हैं।

Read More: किसान सम्मान निधि : शिवराज सिंह चौहान आज MP के 20 लाख किसानों को देंगे तोहफा

बता दें कि कुछ दिन पहले ग्रामीणों द्वारा पंचायत सचिव तनीलाल जाधव की शिकायत कलेक्टर से की गई थी। जहां ग्रामीणों ने पंचायत सचिव पर आरोप लगाते हुए कहा था कि निर्माण कार्य में पंचायत सचिव द्वारा कार्य मजदूरों से ना करवाकर जेसीबी मशीन से करवाया जा रहा है। इसके साथ ही अपात्र व्यक्तियों को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिया जा रहा है। जिससे इस योजना के पात्र इस लाभ से वंचित हो रहे हैं।

इसके बाद कलेक्टर ने शिकायत की जांच की जिम्मेदारी जिला पंचायत सीईओ ऋतुराज सिंह को सौंपी थी। वहीं प्राथमिक जांच में शिकायत को सही पाते हुए विकासखंड पानसेमल के ग्राम पंचायत सचिव तनीलाल जाधव को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया। इसके साथ ही रोजगार सहायक भूषण तेली की संविदा नियुक्ति भी समाप्त करने के निर्देश सीईओ को दिए गए हैं।