बड़वानी, हेमंत नागज़रिया| कलेक्टर शिवराज सिंह वर्मा (Colector Shivraj singh Verm) सोमवार की रात्रि को बड़वानी (Barwani) नगर में घूमे, इस दौरान उन्होने नगर निकाय द्वारा जगह – जगह जलवाये गये अलाव को देखा, वहीं खुले में सो रहे लोगो को कम्बल देकर रेन बसेरा पहुंचवाया । कलेक्टर के साथ डूडा की प्रभारी अधिकारी अंशु जावला, नगरपालिका सीएमओ कुशलसिंह डोडवे भी थे ।

अलाव ताप रहे लोगो से की चर्चा
रात्रि को नगर के निरीक्षण पर निकले कलेक्टर श्री वर्मा ने अस्पताल परिसर, रंजीत चैक, झण्डा चैक एवं बस स्टेण्ड पहुंचकर वहाॅ लगवाये गये अलाव के पास जमा लोगो से चर्चा कर जानकारी प्राप्त की । साथ ही मौके पर उपस्थित नगरपालिका सीएमओ को निर्देशित किया कि इन स्थलों के अलावा भी यदि कहीं आवश्यक है तो वहाॅ पर भी अलाव जलवाने की व्यवस्था की जाये। इसके लिये कुछ कर्मियों की नामजद ड्यूटी लगाई जाये, जिससे अलाव नियमित रूप से जलती रहे ।

खुले में सो रहे लोगो को ओढाया कम्बल और पहुंचवाया रेन बसेरा
रात्रि को नगर के निरीक्षण पर निकले कलेक्टर श्री वर्मा ने कोर्ट चैराह पर बने बगीचे में अपने एक छोटे बच्चे के साथ सो रहे युवा को जहाॅ पहले कम्बल ओढ़ाया, वहीं उसे जगाकर पूछा कि वह यहाॅ पर क्यू खुले में बच्चे के साथ सो रहा है। इस पर युवा के द्वारा यह बताने पर कि वह ग्राम से आया है और मजदूरी करने के पश्चात् अपने बच्चे के साथ यही पर सो गया। इस पर कलेक्टर ने उसे एक और कम्बल देकर नगरपालिका के कर्मियो के साथ वाहन पर बैठाकर रेना बसेरा पहुंचवाया।

बस स्टेण्ड पहुंचकर किया निरीक्षण
कलेक्टर श्री वर्मा ने रात्रि को ही बस स्टेण्ड पहुंचकर वहाॅ पर सो रही एक वृद्ध महिला को जहाॅ कम्बल दिया, वहीं साधु के वेश में सो रहे तीन लोगो को भी कम्बल देकर रेन बसेरा पहुंचवाया । इस दौरान एक अर्द्धविक्षुत युवक को कलेक्टर ने औढ़ने एवं बिछाने के लिये दो कम्बल देकर उसे एक होटल पर भेजकर, भरपेट भोजन भी करवाया ।

रेन बसेरा पहुंचकर किया निरीक्षण
कलेक्टर श्री वर्मा, रात्रि को ही रेन बसेरा भी पहुंचकर वहाॅ उपलब्ध सुविधाओं का निरीक्षण किया। साथ ही वहाॅ पर रूके लोगो से भी चर्चाकर जानकारी प्राप्त की। इस दौरान मौके पर उपस्थित नगरपालिका सीएमओ को निर्देशित किया कि वे रेन बसेरा की जानकारी देने वाले फ्लेक्स चैराहो पर एवं बस स्टेण्ड पर लगवाये । जिससे रात्रि को खुले में सोने हेतु मजबूर लोग यहाॅ पर आकर निःशुल्क रात्रि विश्राम कर सके।

ठेले से खरीदकर खाया होला
रात्रि को नगर निरीक्षण पर निकले कलेक्टर ने बस स्टेण्ड के पास एक युवा के ठेले पर पहुंचकर गर्मागरम होले का भी आनंद लिया। इस दौरान कलेक्टर ने होले खरीदकर अपने साथी अधिकारियों के साथ कुछ देर ठेले के पास ही खड़े होकर होला खाया ।