कोविड केयर सेंटर से गायब हुई दो ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन में से एक जब्त, मरीज के अटेंडर ले गए थे साथ

बड़वानी जिले के कोविड केयर सेंटर से गायब हुई दो ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन में से एक जब्त कर ली गई है।

बड़वानी, बाबूलाल सारंग। कोरोना संक्रमण (Corona Virus) के मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ही इंजेक्शन और ऑक्सीजन सिलेंडर (Oxygen Cylinder) की कालाबाजारी जोरों पर है। जहां इनके चोरी होने के मामले भी सामने आने लगे हैं। बड़वानी जिले के सबसे बड़े कोविड केयर सेंटर (Covid Care Center) आशा ग्राम से गायब हुई 2 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन में से 1 मशीन को जब्त करने में एसडीएम को सफलता प्राप्त हुई है।

यह भी पढ़ें:-मध्य प्रदेश में 12652 नए केस, 94 की मौत, सीएम बोले- बाहर से आने वालों पर हो सख्ती

एसडीएम घनश्याम धनगर ने बताया कि कोविड केयर सेंटर आशा ग्राम से 2 ऑक्सीजन कंसनट्रेटर मशीन गायब होने की सूचना उन्हें मिली थी, जिसकी जांच पड़ताल की गई। इस दौरान उन्होंने ट्रामा सेंटर में अपने एक कोरोना प्रभावित रोगी को लेकर पहुंचने वाले अटेंडर के पास ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन को देखकर जब उससे पूछताछ की। जिसमें अटेंडरों ने स्वीकार किया कि उन्होंने आशा ग्राम में इलाज के दौरान घर लौटते समय इस मशीन को अपने साथ ले गए थे, कि आवश्यकता पड़ने पर इसका लाभ उनके मरीज को मिल सके।

यह भी पढ़ें:-मध्य प्रदेश के लिए राहत भरी खबर, पॉजिटिव केस की तुलना में रिकवरी रेट बढ़ा

मामले में एसडीएम ने मरीज की परिस्थितियों के मद्देनजर अटेंडरों को चेतावनी देकर आगे से ऐसा न करने की हिदायत दी। साथ ही उन्होंने दूसरे मशीन को ले जाने वाले अज्ञात मरीज और उनके परिजनों से भी अनुरोध किया है कि वे समय की नजाकत को देखते हुए उक्त मशीन तत्काल आशा ग्राम में आकर वापस करें। उनका नाम गुप्त रखते हुए कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी। यदि ऐसा नहीं किया जाता है तो मशीन जब्त होने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।
एसडीएम घनश्याम धनगर ने कोरोना केयर सेंटर में भर्ती सभी मरीजों और उनके अटेंडरों से अनुरोध किया है कि वे इलाज के दौरान उन्हें उपलब्ध कराए गए संसाधनों को जाते समय जानबूझकर या अनजाने में अपने साथ न ले जाए। क्योंकि इन संसाधनों की आवश्यकता अन्य मरीजों को भी होती है।