देखिए आखिर कहाँ बनाया गया वातानुकूलित बैलून हॉस्पिटल, मात्र 20 दिन में तैयार वाटर और फायर प्रूफ आधुनिक अस्पताल

बैतूल, वाजिद खान। बैतूल में जिला चिकित्सालय परिसर में 20 दिन के अंदर 50 बिस्तरों वाले इंफ्लेटेबल हॉस्पिटल की सौगात मिल गई । पानी और अग्निरोधक हवादार बैलून से बना ये हॉस्पिटल अमेरिकन-इंडिया फाउंडेशन की मदद से तैयार हुआ है । इसमें आईसीयू, ऑक्सीजन बेड से लेकर वे सभी सुविधाएं है जो एक निजी अस्पताल में होती हैं। दिल्ली की कंपनी पीडी मेडिकल इसे तैयार किया है।

दारू छुड़ाने का ऐसा नज़ारा देखा नही होगा आपने, ब्लू गैंग का यह तरीका कर देगा हैरान..

सिर्फ 20 दिन में तैयार हुए इस हॉस्पिटल में 8 आईसीयू बेड,13 ऑक्सीजन बेड और 25 सामान्य बेड उपलब्ध है। निर्माण कंपनी ऑक्सीजन पाइप लाइन का सपोर्ट तैयार कर बेड, स्टैंड समेत मरीजों को मिलने वाली अन्य सुविधा तैयार करके दिया है । हॉस्पिटल में रिसेप्शन एरिया, डॉक्टर लॉज, एक्जामिनेशन हाल, डॉक्टर, नर्स, मरीज वॉशरूम, मरीजों को भर्ती करने की सुविधा है। हॉस्पिटल ने सेंटर लाइन ऑक्सीजन की सुविधा भी है।

PM नरेंद्र मोदी बुधवार को MP में स्वामित्व योजना के हितग्राहियों को करेंगे अधिकार अभिलेख का वितरण

इंफ्लेटेबल टेंट की दीवारें से बना यह हॉस्पिटल पानी और अग्निरोधी सामग्री से तैयार किया गया है । यह हॉस्पिटल इंफ्लेटेबल टेंट है जो बैलून में हवा भरकर तैयार किया जाता है। 120 फुट लंबाई और 80 फुट चौड़ाई के इस टेंट में अंदर ACP सीट्स के जरिए पार्टिशन व अन्य सजावट की गई है , जबकि ऐसी ही सामग्री से इसका फ्लोर भी तैयार किया गया । इस हॉस्पिटल के लिए जमीन उपलब्ध करा कर फ्लोर जिला चिकित्सालय ने तैयार कर उपलब्ध कराया है । सीवरेज और पीने के पानी की व्यवस्था की जिम्मेदारी नगरपालिका प्रशासन को सौंपी थी।

देखिए आखिर कहाँ बनाया गया वातानुकूलित बैलून हॉस्पिटल, मात्र 20 दिन में तैयार वाटर और फायर प्रूफ आधुनिक अस्पताल

सर्वे के आधार पर ही कांग्रेस ने मुझे टिकट दिया-राज नारायण सिंह, कांग्रेस कार्यकर्त्ता और प्रजातंत्र ही मेरी नैया पार करेंगी

इस बैलून को खड़ा करने के लिए एयर कम्प्रेशर मोटर्स का इस्तेमाल किया जाता है, जिससे गर्म हवा इस बैलून टेंट में भेजी जाती है। इसके बाद यह तीन घंटे में हवा के जरिये खड़ा हो जाता है। साइट इंचार्ज रूपेश के मुताबिक, टेंट को खड़ा करने के लिए गर्म और ठंडी दोनों हवा का इस्तेमाल होता है। स्ट्रक्चर फायर, वाटर प्रूफ तो है ही इस पर बाहरी तेज हवा आंधी का कोई फर्क नहीं पड़ता। वहीं रेत की बोरिया भी भरकर रखी जाती है। इसे पंचर करने जैसी घटनाएं कभी नहीं हुई। इसके लिए 24 घंटे सुरक्षा दस्ता तैनात रहेगा।

 

आखिर वकीलों ने क्यू दिया धरना और हुई उनकी गिरफ़्तारी !

अमेरिकन- इंडिया फाउंडेशन द्वारा बनवाए जा रहे इस हॉस्पिटल के शुरू होने पर आवश्यक डॉक्टर और अन्य स्टाफ स्वास्थ्य विभाग उपलब्ध कराएगा। इसके अलावा हॉस्पिटल को बिजली, पानी और स्टाफ की सुविधा अस्पताल प्रबंधन ने उपलब्ध कराई है । कोरोना की लहर को देखते हुए इस बैलून हॉस्पिटल को तैयार किया गया है लेकिन कोरोना की रफ्तार कम होने के कारण फिलहाल इस अस्पताल में दूसरे मरीजों को भर्ती किया जाएगा । सीएमएचओ डॉ ए के तिवारी का कहना है कि यह कोविड एक्सटेंशन हॉस्पिटल है 50 बिस्तर का पूरा वातानुकूलित अस्पताल बनाया गया है इसमें आठ आईसीयू बेड तेरह ऑक्सीजन बेड बाकी के जनरल बेड है अमेरिकन इंडिया कंपनी ने इसे दिया है केंद्र सरकार की योजना के तहत यह अस्पताल बैतूल जिला चिकित्सालय को मिला है इसको तैयार करने में 20 दिन लगे हैं अब मरीजों की सेटिंग शुरू की जाएगी ।