सामाजिक बुराई को दूर करने का नया तरीका, ब्लू गैंग द्वारा शराब धरपकड़ की अनोखी कहानी

बैतूल,वाजिद खान| ब्लू गैंग बैतूल द्वारा चिखलार में दबिश दी गयी जहाँ एक महिला रोशनी पति राजेश धुर्वे अपने घर के बाहर प्लास्टिक केन में कच्ची महुआ शराब कब्जे में रखे हुए बेच रही थी। ब्लू गैंग की महिलाओं एवं संगवारी कोतवाली महिला आरक्षक बसंती शेषकर व लक्ष्मी ठाकुर, चंद्रकान्ता द्वारा कब्जा पुलिस लिया गया तथा जुर्म आबकारी एक्ट के होने से मौके पर ही धारा 34(1) कायम किया गया तथा मुचलके पर छोड़ने के लिए ब्लू गैंग द्वारा शर्त रखी गयी कि यदि वो वृक्षारोपण कर शराब न बनने और न बेचने का संकल्प ले तो मौके पर ही छोड़ देंगे।

आरोपी महिला ने अपने घर के सामने गुलमोहर का एक पौधा महिला द्वारा रोपित किया गया। आरोपी महिला ने पौधा रोपते हुए संकल्प लिया कि मैं दोबारा शराब नहीं बनाउंगी और न ही बेचूँगी तथा पौधे की सेवा करूंगी। ब्लू गैंग द्वारा दुकान के बाहर एक पर्चा लगाया गया जिसमें लिखा था शराब मांगकर शर्मिंदा न करें..और यदि परिवार से करते हैं प्यार- नशे का करें बहिष्कार।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here