Betul News : 6 साल के बच्चे की फूड पॉइजनिंग से मौत, परिवार के 13 लोग अस्पताल में भर्ती

उल्टी दस्त की शिकायत के बाद पीड़ितों का बैतूल बाजार में ही एक निजी डॉक्टर से इलाज कराया गया। लेकिन आज जब सभी की हालत बिगड़ने लगी तो उन्हे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

betul news

Betul News : मध्य प्रदेश के बैतूल जिले में फूड प्वाइजनिंग के बाद एक 6 साल के बच्चे की मौत हो गई है। जबकि 13 लोग बीमार हो गए है। सभी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एक कार्यक्रम में सभी ने टमाटर की चटनी का सेवन किया था। तभी से उनकी हालत बिगड़ रही थी। सभी को आज जिला अस्पताल लाया गया है। जानकारी लगने पर बैतूल एसपी भी जिला अस्पताल पहुंचे और बीमारी से मुलाकात की है।

क्या है पूरा मामला

बैतूल बाजार कस्बे में रमेश गोल्हर के परिवार में हुई बेटे की मौत के बाद कई रिश्तेदार उनके घर पहुंचे थे।  जहां पिछले रविवार शाम सभी मेहमानों ने घर में टमाटर की चटनी रोटी दाल चावल का सेवन किया था। जिसके बाद एक-एक करके सभी मेहमानों की तबीयत बिगड़ने लगी। जिसमें कुछ पुरुष, महिलाएं और बच्चे शामिल है। उल्टी दस्त की शिकायत के बाद पीड़ितों का कल सोमवार बैतूल बाजार में ही एक निजी डॉक्टर से इलाज कराया गया। लेकिन आज जब सभी की हालत बिगड़ने लगी तो उन्हे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस फूड प्वाइजनिंग में अमरवती निवासी महिला रेणुका सतपुते के 6 वर्षीय बेटे वेदांत जिला अस्पताल में मौत हो गई है। जबकि 13 अन्य लोगो को भर्ती कराया गया है। इनमे तीन बच्चे भी शामिल है।

ये लोग हुए बीमार, लता गूलर, (31), रेणुका सातपुते (30), गोदी बाई गूलर (55) , प्रीति गूलर (30), सरिता गूलर(32) , उमेश गूलर (45), , तेजल गूलर (9) , संवि गूलर (4) सहित चार अन्य लोग की तबीयत फूड प्वाइजनिंग की वजह से अचानक बिगड़ गई जिसमें से 6 वर्षीय बालक वेदांश सातपुते की जिला अस्पताल के आईसीयू वार्ड में इलाज के दौरान मौत हो गई। मृतक बालक का जिला अस्पताल में पोस्टमार्टम का शव परिजनों को सौंप दिया गया है।
बैतूल से वाजिद खान की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है।वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News