इंटरनेशनल बास्केटबाल प्लेयर का कोसमी डैम में मिला शव, जांच में जुटी पुलिस

MP News : इस घटना की जानकारी जैसे ही लगी, वैसे ही जिले के खेल जगत में गहरी मायूसी फैल गई।

Betul News : बैतूल जिले के कालापाठा क्षेत्र में रहने वाली इंटरनेशनल बास्केटबाल खिलाड़ी प्रार्थना साल्वे (17) का शव गुरुवार सुबह शहर से कुछ दूर स्थित कोसमी डैम में मिला। इस घटना से शहर के खेल जगत में मायूसी छा गई है। सूचना पर पुलिस और होमगार्ड ने मौके पर पहुंच कर शव को डैम से बाहर निकाल कर पीएम के लिए जिला अस्पताल भिजवाया। घटना क्यों और कैसे हुई, इसका अभी खुलासा नहीं हुआ है। लेकिन पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के मुताबिक प्रार्थना साल्वे जूनियर बास्केटबॉल की राष्ट्रीय खिलाड़ी भी रह चुकी है। वह कई अंतरराष्ट्रीय मैच भी खेल चुकी थी। बास्केटबाल कोच राकेश बाजपेई ने बताया कि वह बेहद खुश मिजाज और अच्छी खिलाड़ी थी। हाल ही में वह एशिया कप में हिस्सा लेकर जॉर्डन से आई थी। इसी खेल के दौरान उसका लिगामेंट टूट गया था। जिसका 3-4 महीने से इलाज चल रहा था। वह रसिया भी खेलने जा चुकी है। प्रार्थना नेशनल विनर रही है। बैंगलोर में हुए नेशनल टूर्नामेंट में वह एमपी की टीम से खेली थी। प्रार्थना का चयन ‘खेलो इंडिया’ के लिए भी हुआ था। जिसकी उन्हें स्कॉलरशिप भी मिलती थी।

वहीं जांच अधिकारी कोतवाली एसआई मौर्य ने जानकारी देते हुए बताया है कि प्रार्थना पिता भूता सिंह 17 साल की लड़की है बास्केटबॉल की खिलाड़ी है। इसका भाई कुछ दिन पहले इंदौर में उसकी मौत हो गई। उसके भाई की मौत के कारण यह मानसिक रूप से परेशान थी जिसके चलते डैम में डूब कर आत्महत्या कर ली। यह कल शाम 7 बजे के आसपास की घटना है पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

इंटरनेशनल बास्केटबाल प्लेयर का कोसमी डैम में मिला शव, जांच में जुटी पुलिस

पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है। संभावना जताई जा रही है कि प्रार्थना के बड़े भाई की कुछ माह पहले इंदौर के फ्लैट में हुए अग्निकांड में मौत हो चुकी है। यह भाई उसे नेशनल जूनियर बास्केटबॉल प्रतियोगिता में शामिल कराने के लिए दिल्ली गया था। वापस में अपने दोस्त के यहां रुक गया। संयोगवश प्रार्थना अपनी सहेली के यहां ठहरी थी। इस दौरान फ्लैट में हुए हादसे में उसके भाई की भी जान चली गई। बताया जा रहा है कि प्रार्थना इस सदमे से उबर नहीं पा रही थी। वह लिगामेंट टूटने से भी परेशान थी।

बैतूल से वाजिद खान की रिपोर्ट