अन्धविश्वास के कारण महिला की मौत, सांप के कांटने पर परिजनों ने की थी झाड़-फूंक

Due-to-superstitions

बैतूल। 

आधुनिकता के इस दौर में भले ही हम कई बड़ी-बड़ी बाते करने लगे हों लेकिन फिर भी हमारे समाज एक बड़ा तबका आज भी अन्धविश्वास की चपेट में है। अन्धविश्वास के चलते कई लोग अपनी जान से हाथ धो बैठते हैं। आज एक ऐसा ही मामला मध्यप्रदेश के बैतूल जिले से हमारे सामने आया है। जहां अन्धविश्वास के कारण एक महिला की जान चली गई।

पूरा मामला मध्यप्रदेश के बैतूल जिले के चिचोली ब्लाक के ग्राम धनियाजाम का है। यहां एक महिला को घर में काेबरा सांप ने काट लिया और जब महिला ने सांप के काटे जाने की बात अपने परिजनों को बताई तो महिला को डॉक्टर के पास ले जाने के बजाय परिजनों और ग्रामीणों ने मिलकर घर के भीतर खुदाई करने लगे व कोबरा को पकड़ लिया एवं घर में ही एक खंबे पर रस्सी से बाँध दिया। उसके उसके बाद महिला के शरीर से जहर उतरने के नाम पर झाड़-फूंक करने लगे। जिसके कारण महिला की मौत हो गई। 

सांप ने जिस महिला को काटा था वह घर में काम कर रही थी, उस महिला का नाम विनीता मर्सकोले (22) बताया जा रहा है। वह धनियाजाम में रहने वाले दिनेश मर्सकोले की पत्नी थी।

दरअसल, इस गाँव के लोगों के मन में सांप द्वारा काटे जाने को लेकर यह अन्धविश्वास है कि काटे जाने के बाद यदि सांप की मौत हो जाती है तो फिर व्यक्ति की जान नहीं बचाई जा सकती। इसलिए उन्होंने मिलकर सांप को बांध दिया। हालंकि झाड़ फूंक के दौरान जब महिला की हालत बिगड़ने लगी तब परिजन उसे अस्पताल ले गए, लेकिन जब तक महिला की जान जा चुकी थी।